कर्नाटक: लकवा ठीक करने के लिए बच्ची की बलि

  • 6 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट KARNATAKA POLICE
Image caption मुख्य अभियुक्त मोहम्मद वासिल को गिरफ़्तार किया जा चुका है

कर्नाटक में एक लकवाग्रस्त आदमी को ठीक करने के लिए दस साल की एक बच्ची की बलि देने के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ़्तार किया है और अन्य संदिग्धों की सरगर्मी से तलाश कर रही है.

सूबे की राजधानी बैंगलुरू से 40 किलोमीटर दूर मगडी में आठ तस्वीरों में से आयशा का चुनाव किया गया था.

झारखंड: मंदिर में गला काटकर दी जान

मुख्य अभियुक्त मोहम्मद वासिल, उनकी बहन नसीमा ताज और 17 साल के एक किशोर को गिरफ़्तार किया जा चुका है.

गला घोंट कर हत्या

इमेज कॉपीरइट KARNATAKA POLICE
Image caption नसीमा का मानना था कि काले जादू की वजह से रफ़ीक का स्वास्थ्य ठीक नहीं हो रहा है

आरोप है कि उसे बहला फुसला कर एक जगह ले जाया गया और गला घोंट कर उसकी हत्या कर दी गई. ऐसा इसलिए किया गया ताकि लगवाग्रस्त आदमी पर चल रहा काला जादू का असर ख़त्म हो जाए और उसका स्वास्थ्य ठीक हो जाए.

मोहम्मद नुरुल्ला ने अपनी बेटी आयशा की गुमशुदगी की रिपोर्ट 1 मार्च को थाने में दर्ज करवाई थी.

झारखंड में भक्तों ने गुरू की बलि दी

खज़ाने के लालच में मासूमों की बलि?

रामनगरम ज़िले के पुलिस अधीक्षक बी रमेश ने बीबीसी से कहा, "और कुछ लोग अपराध में शामिल हैं. हम हर लिहाज से जांच कर रहे हैं. इसलिए हम और लोगों की गिरफ़्तारी की संभावना से इनकार नहीं करते."

काले जादू का असर?

इमेज कॉपीरइट KARNATAKA POLICE
Image caption आरोप है कि रशीदउन्निशां ने सलाह दी कि किसी की बलि देने से रफ़ीक का स्वास्थ्य ठीक होगा

पुलिस के मुताबिक मुख्य अभियुक्त मोहम्मल वासिल ने जब देखा कि उनके भाई मोहम्मद रफ़ीक की तबियत लंबे इलाज के बाद भी ठीक नहीं हो रही है तो उन्होंने अपने बहन रशीदउन्निशां से बात की. रशीदउन्निशां ने नसीमा से बात करने की सलाह दी.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक़, "नसीमा ने कहा कि रफ़ीक का स्वास्थ्य ठीक इसलिए नहीं हो रहा है कि किसी ने उन पर काला जादू कर रखा है. यदि किसी की बलि दी जाए तो उनके भाई की जान बचाई जा सकती है."

तीन अभियुक्तों ने 17 साल के किशोर को राजी कराया कि वह किसी तरह बहला-फुसला कर आयशा को ले आए.

पुलिस की तफ़्तीश जारी

इमेज कॉपीरइट KARNATAKA POLICE

पुलिस ने बताया कि काले जादू की रस्म पूरी करने के बाद गला घोंट कर आयशा की हत्या कर दी गई. उसकी लाश एक गुप्त जगह पर छिपा कर रख दी गई.

स्थानीय लोग इस पूरे मामले पर इस तरह गुस्सा थे कि उन्होंने वासिल के घर पर पथराव कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे