ट्विटर पर एक साथ दिखे लालू और आलू

इमेज कॉपीरइट TWITTER

'जब तक रहेगा समोसे में आलू, तब तक बिहार में रहेगा लालू'. यह कहावत तब मशहूर हुई थी जब बिहार में लालू प्रसाद यादव और उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल की सरकार थी.

आलू का नाम एक बार फिर लालू यादव से जुड़ गया है.

गुरुवार को लालू प्रसाद यादव अपने ट्विटर हैंडल पर खुद से उगाए आलू के साथ सामने आए.

उन्होंने तीन तस्वीरें शेयर करते हुए ट्वीट किया, ''खेत-खलिहान में जाकर अच्छी फसल देखकर सुकून मिलता है. अपने हाथों से उपजाया हुआ आलू...''

लालू के इस ट्वीट पर कई मजेदार टिप्पणियां आईं.

'लालटेन लेकर खोज रहे हैं कहां है क्योटो?'

आखिरकार ट्विटर पर बोल ही उठे लालू

इमेज कॉपीरइट PTI

कुलदीप भदाना ने कमेंट किया कि लालू जी आप ज्यादा दिनों तक आलू की खेती नहीं कर सकते क्योंकि आपके साथी राहुल गांधी जी फैक्ट्री लगाने वाले हैं.

तो अजित सैन ने लिखा कि चारा भी उगा लेते तो अच्छा होता.

संदीप श्रीवास्तव ने टिप्पणी की, ''जानकर अच्छा लगा कि मोदीजी को गाली देने के अलावा भी आपको कोई काम आता है..''

लालू अपने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री पर अक्सर बहुत तीखा हमला करते हैं.

प्रधानमंत्री इधर यूपी चुनाव के सिलासिले में लगातार तीन दिनों तक बनारस में जमे रहे.

नरेंद्र मोदी की तीन दिनों की बनारस यात्रा पर लालू ने 6 मार्च को ट्वीट किया था, ''3 दिन बनारस में डेरा डालने के बाद भी गंगा माई से मिलने नहीं पहुंचा तथाकथित बेटा. इनकी वादाखिलाफी मापने का कोई पैमाना होता तो वह भी टूट जाता.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

मोदी के ख़िलाफ़ लालू की लालटेन में तेल नहीं

बिहारी नेताओं की बात करें तो अभी ट्वीटर पर लालू यादव के ही सबसे ज्यादा फॉलोवर हैं. लालू के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी का नंबर आता है. हालांकि लालू इन दोनों के बाद ट्विटर पर आए थे.

अभी ट्विटर पर लालू के करीब 8 लाख फॉलोवर हैं. यहां दिलचस्प ये है कि कभी लालू ने ट्विटर के बारे में कहा था कि ये ची-ची क्या होता है.

कुछ हफ्तों पहले लालू ने अंग्रेजी अखबार द टेलीगाफ को बताया कि पांच लोगों की एक टीम उनका ट्विटर अकाउंट हैंडल करती है और हर एक ट्वीट उनकी अनुमति के बाद ही सोशल मीडिया पर आता है.

लालू ने मोदी को 'ट्विटर राजा' कहा, हुई ट्रोलिंग

इस बातचीत में उन्होंने यह भी बताया कि वे खुद कोई मोबाइल फोन नहीं रखते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे