आईएस की 'धमकी' के बाद ताजमहल की सुरक्षा बढ़ी

  • 17 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट TERN TV

आगरा के मशहूर मुगलकालीन स्मारक ताजमहल की सरक्षा बढ़ाई गई है.

हाल ही में कुछ मीडिया रिपोर्टों में कहा गया था कि ताजमहल चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के निशाने पर है.

क़ानून-व्यवस्था एडीजी दलजीत सिंह चौधरी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, " एक लिंक इंटरनेट पर शेयर किया जा रहा है जिसमें कहा गया है कि ताजमहल चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के निशाने पर है. हम इसकी जांच कर रहे हैं. इस बीच ताजमहल के अंदर और आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है. "

इससे पहले एक वेबसाइट पर एक ग्राफ़िक्स प्रकाशित किया गया था जिसमें ताजमहल के पास एक चरमपंथी खड़ा था और उसके हाथ में हथियार जैसी दिखने वाली चीज़ थी.

लखनऊ मुठभेड़ खत्म, एक संदिग्ध की मौत

'अगर वो देश के ख़िलाफ़ था तो हमें शव नहीं चाहिए'

रिपोर्टों के मुताबिक आईएस का समर्थन करने वाले एक मीडिया ग्रुप ने ताजमहल को आईएस के हमले का संभावित निशाना बताया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

हाल ही में सुरक्षा एजेंसियों ने उत्तर प्रदेश में कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया था जिसमें मुठभेड़ में एक संदिग्ध सैफ़ुल्लाह की मौत हो गई थी और छह लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इसके एक हफ़्ते बाद ये ग्राफ़िक्स सामने आया था.

कहा जा रहा है कि सैफ़ुल्लाह को आईएस ने ऑनलाइन संपर्क के ज़रिए अपनी तरफ़ मोड़ा था.

इस ग्राफ़िक्स में ताजमहल के पास आईएस का नकाबपोश चरमपंथी हाथों में असॉल्ट राइफ़ल लिए दिखाया गया है.

इसके अलावा ताजमहल की अन्य तीन छोटी तस्वीरों के नीचे लिखा है 'नया निशाना'. इसके अलावा एक वैन भी है जिस पर अरबी लफ़्ज़ 'आगरा इस्तिशादी' लिखा हुआ है और बम की तस्वीर भी बनी हुई है. कहा जा रहा है कि इसका इशारा आत्मघाती हमले की तरफ़ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे