'अगर भारत में रहना है तो योगी मोदी कहना है'

लखनऊ, योगी आदित्यनाथ, बीजेपी समर्थक

लखनऊ के कांशीराम स्मृति उद्यान में थोड़ी ही देर में उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह शुरू होने वाला है.

भारतीय जनता पार्टी के समर्थक, कार्यकर्ता और उत्तर प्रदेश बीजेपी के तमाम बड़े नेता यहां पहुंचे हुए हैं. लखनऊ में दाखिल होने के रास्ते चारों तरफ से जाम हैं.

शहर के वीवीआईपी गेस्ट हाउस में योगी आदित्यनाथ ठहरे हुए हैं जहां उनके समर्थकों का काफी बड़ा हुजूम है जो योगी-योगी के नारे लगा रहे हैं.

पाक मीडिया- योगी 'मुस्लिम विरोधी कट्टरपंथी'

'उत्तर प्रदेश रोगी था, इलाज बस योगी था'

यहां समर्थक ये कहते हुए भी सुने जा रहे हैं, "अगर भारत में रहना है तो योगी मोदी कहना है." इसमें आदित्यनाथ की हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता भी बड़ी संख्या में आए हुए हैं.

कई समर्थकों ने बताया कि उन्हें भी उम्मीद नहीं थी कि योगी मुख्यमंत्री बन पाएंगे लेकिन आखिरी वक्त पर उनका नाम आ गया. इसकी वजह से सबका उत्साह और बढ़ गया है.

हिंदू युवा वाहिनी के गोरखपुर से आए एक नेता वीरेंद्र का कहना था कि योगी आदित्यनाथ की आक्रामक हिंदुत्व वाली छवि मीडिया की बनाई हुई है जबकि हकीकत में वे वैसे नहीं हैं.

उत्तर प्रदेश: गुजरात के बाद हिंदुत्व की दूसरी प्रयोगशाला

नज़रिया: 'हिंदुत्व की राजनीति जीत रही है'

इमेज कॉपीरइट Facebook @Yogiadityanath

वीरेंद्र का कहना है कि योगी सबको साथ लेकर चलने वाले नेता हैं.

गेस्ट हाउस के बाहर मौजूद हिंदू युवा वाहिनी और बीजेपी कार्यकर्ताओं का आरोप है कि उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर माहौल खराब करने की कोशिश की गई मगर हिंदू वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने हालात बिगड़ने से बचा लिया.

इमेज कॉपीरइट Sameeratmaj Mishra

उनका कहना है कि आगे भी वे सभी वर्ग के लोगों को बचाते रहेंगे.

विवादित बयानों वाले योगी आदित्यनाथ होंगे यूपी के मुख्यमंत्री

राजनीति की धुरी रहा है योगी का गोरखनाथ मठ

यही पीएम का न्यू-इंडिया है- ओवैसी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)