जाट आंदोलन: हरियाणा के सीएम खट्टर से मुलाक़ात के बाद रद्द किया गया संसद मार्च

जाट

राजधानी दिल्ली में सोमवार को होने वाला 'जाट आंदोलन' स्थगित कर दिया गया है.

इसके साथ ही दिल्ली मेट्रो ने भी बयान जारी कर कहा कि दिल्ली पुलिस के सुझाव को मानते हुए दिल्ली-एनसीआर के किसी भी मेट्रो स्टेशन को बंद नहीं किया जाएगा.

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने इसका आधिकारिक ऐलान किया.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में होने वाला संसद मार्च रद्द किया जाता है. लेकिन हरियाणा में जाट आरक्षण को लेकर चल रहे कुछ धरने सांकेतिक तौर पर जारी रहेंगे.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आह्वान पर दिल्ली में हुई जाट नेताओं और सरकार की मीटिंग के बाद यह फ़ैसला किया गया.

सीएम खट्टर ने कहा कि जाट नेताओं ने उनसे आरक्षण में उनकी मदद को लेकर आश्वासन मांगा. साथ ही केंद्र में भी जाटों को आरक्षण देने की मांग रखी.

खट्टर ने बताया कि जाटों की बड़ी मांग पिछले आंदोलन के दौरान कथित हिंसा के आरोप में गिरफ़्तार किए गए नौजवानों को रिहा कराने को लेकर थी.

इस बीच हरियाणा में 50 दिन पूरा कर चुके 'जाट आंदोलन' ने फ़तेहाबाद में हिंसक मोड़ लिया.

यहां रविवार दोपहर जाट प्रदर्शनकारियों और हरियाणा पुलिस के बीच झड़प की ख़बरें आईं.

दिल्ली पुलिस ने भी जाट आंदोलन रद्द किए जाने के बाद राहत की सांस ली.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption दिल्ली पुलिस ने जाट आंदोलन के मद्देनज़र जारी किए थे दिशा निर्देश

साथ ही संसद मार्च रद्द किए जाने के बाद दिल्ली मेट्रो ने भी बयान जारी कर कहा कि दिल्ली पुलिस के सुझाव को मानते हुए दिल्ली-एनसीआर के किसी भी मेट्रो स्टेशन को बंद नहीं किया जाएगा. हालांकि पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय, उद्योग भवन और लोक कल्याण मार्ग मेट्रो स्टेशन पर सिर्फ़ प्रवेश किया जा सकेगा. इन स्टेशनों से यात्रियों को बाहर नहीं आने दिया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार