प्रेस रिव्यू: मणिपुर में होगा शक्ति परीक्षण

  • 20 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट DEEPAK SHIJAGURUMAYUM

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने लिखा है कि सोमवार को मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को आज विधानसभा में बहुमत साबित करना है.

इस बीच मणिपुर में यूनाइटेड नगा काउन्सिल सरकार से बातचीत के बाद इंफ़ाल-दीमापुर और इंफाल सिल्चर हाईवे पर से आर्थिक नाकेबंदी ख़त्म करने के लिए तैयार हो गई है.

यूएनसी की इस आर्थिक नाकेबंदी के कारण मणिपुर में लोगों को काफी समस्याओं को करना पड़ रहा था.

कांग्रेस की पूर्व सरकार के मणिपुर में नए ज़िले बनाने के फ़ैसले के ख़िलाफ़ यूएनसी ने 139 दिन पहले ये नाकेबंदी शुरू की थी.

'मरने पर तुम्हें क़ब्र के लिए ज़मीन भी नहीं देंगे'

मणिपुर: एक फुटबॉलर जो बन गए मुख्यमंत्री

इमेज कॉपीरइट Thinkstock
Image caption परमाणु सयंत्र, फ़ाइल फ़ोटो

जनसत्ता ने लिखा है कि दो परमाणु रिएक्टरों को हुई 'चेचक!', साल भर से वैज्ञानिक जांच कर रहे हैं.

भारतीय परमाणु रिएक्टर परिसर में विकिरण रोधी पाइप यानी रेडिएशन रेज़िस्टेन्ट पाइप पर कुछ इस तरह की गड़बड़ी देखने को मिली है जैसी इंसानों में चेचक के संक्रमण के दौरान देखने को मिलती है.

परमाणु वैज्ञानिक गुजरात के काकरापार परमाणु ऊर्जा संयंत्र में रिसाव का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन साल भर के बाद भी कुछ पता नहीं लग पाया है.

किसी भी अफरातफरी और किसी अन्य दुर्घटना से बचने के लिए भारतीय परमाणु निगरानी संस्था- परमाणु उर्जा नियमन बोर्ड ने प्रभावित संयंत्रों को तब तक के लिए बंद कर दिया है.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK @YOGIADITYANATH

दैनिक भास्कर ने लिखा है कि यूपी के नए सीएम और गोरक्षपीठ की पीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ आज लखनऊ स्थि‍त सीएम आवास में प्रवेश करेंगे.

हालांक‍ि, सीएम आवास में योगी आदित्यनाथ के प्रवेश से पहले गोरक्षमठ की देशी गायों के 11 लीटर दूध से वहां रुद्राभिषेक और हवन-पूजन होगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

जनसत्ता ने लिखा है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि गाली-गलौज करने वाले वयस्क बच्चों को मां-बाप घर से निकाल सकते हैं.

अदालत ने कहा, 'जब तक मां-बाप के पास संपत्ति पर कानूनी अधिकार है तो वे गाली-गलौज करने वाले अपने वयस्क बच्चों को घर से बाहर निकाल सकते हैं

हिंदुस्तान टाइम्स ने लिखा है कि दिल्ली फर्ज़ी कॉलेजों की राजधानी है.

भारत में इंजीनियरिंग और अन्य तकनीकी कोर्स कराने वाले 279 फर्जी कॉलेज हैं जिनके पास उचित मान्यता नहीं है, इनमें से 66 दिल्ली में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे