प्रेस रिव्यू: सिद्धू ने कहा 'ये मेरा निजी मामला'

इमेज कॉपीरइट AFP

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने कांग्रेस नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के उस बयान को प्रमुखता से छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि मेरा टीवी कॉमेडी शो करना मेरा अधिकार है और इससे किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए. अख़बार के मुताबिक़ सिद्धू ने कहा कि शाम सात से सुबह छह के बीच वो क्या करते हैं ये उनका निजी मामला है.

मंत्री पद संभालने के बाद भी सिद्धू ने कहा था कि वो टीवी पर कॉमेडी शो में जज की भूमिका करना जारी रखेंगे जिसके बाद विपक्षी दल समेत कई लोगों ने उनकी आलोचना की थी. मीडिया में आ रही ख़बरों के मुताबिक़ इस बात को लेकर उनके मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मतभेद भी हैं.

इमेज कॉपीरइट Press Association

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में ही छपी ख़बर के मुताबिक़ सुप्रीम कोर्ट ने इंटरनेट पर मौजूद बाल यौन शोषण और पोर्नोग्राफ़िक कंटेट पर चिंता जताई है और गूगल, याहू और फ़ेसबुक जैसी बड़ी कंपनियों से कहा है कि वो भारत आएं और इसे कैसे रोका जाए इसका समाधान खोजने में मदद करें.

इमेज कॉपीरइट EPA

हिंदुस्तान टाइम्स ने उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उस फ़ैसले को पहले पन्ने पर जगह दी है जिसमें उन्होंने प्रदेश के तमाम सरकारी दफ़्तरों में पान और गुटखा खाने पर पाबंदी लगा दी है. योगी के इस फ़ैसले की सोशल मीडिया पर ख़ासी चर्चा हो रही है.

दैनिक भास्कर में छपी ख़बर के मुताबिक़ एक एनजीओ की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि क्यों ना पूर्व सांसदों की पेंशन और अन्य सुविधाएं बंद कर दी जाएं. अख़बार के मुताबिक़ सर्वोच्च अदालत पूर्व सांसदों को मिलने वाली सुविधाओं की संवैधानिक वैधता की जांच करेगी.

इसके अलावा तमाम अख़बारों में लंदन हमले से जुड़ी ख़बरें छाई रहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)