रजनीकांत किस 'डर' से श्रीलंका नहीं जा रहे

  • 26 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट AFP

सुपरस्टार रजनीकांत ने तमिलनाडु में हो रहे विरोध को देखते हुए अपनी श्रीलंका यात्रा स्थगित कर दी है.

वो वहां भारतीय कंपनी लाइका की ओर से जाफ़ना के वावुनिया में युद्ध पीड़ित तमिलों के लिए बनाए गए घरों की चाबी उन्हें सौंपने जाने वाले थे. ये घर उन्हें मुफ़्त में दिए जाने हैं.

इस कार्यक्रम में श्रीलंका की तमिल नेशनल एलायंस के नेता और वहां के राज्य सरकार के मंत्रियों को भी शामिल होना था.

रजनीकांत के श्रीलंका जाने का तमिलनाडु में बड़े पैमाने पर विरोध हो रहा था. विरोध करने वालों में तिरुमावलावन, वेलमुरुग, वाइको और रामदास शामिल हैं.

रजनीकांत ने एक बयान जारी कर कहा है कि इन तीनों नेताओं ने उनसे श्रीलंका यात्रा रद्द करने की गुजारिश की थी.

रजनीकांत के इस फ़ैसले पर श्रीलंका के वरिष्ठ पत्रकार थाना बालासिंघम ने कहा कि यह फ़ैसला स्वीकार्य नहीं है.

पढ़ें- श्रीलंका: तमिलों का पुलिस के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

उत्तरी श्रीलंका अब 'तमिल' नहीं रहा : श्रीलंका के रक्षा मंत्री

इमेज कॉपीरइट V CREATIONS

बीबीसी तमिल को दिए एक इंटरव्यू में बालासिंघम ने कहा, ''युद्ध पीड़ितों के लिए बनाए घरों को सौंपने के लिए आयोजित होने वाले समारोह में श्रीलंकाई व्यापारी भी शामिल होने वाले थे. रजनीकांत ने इस बार ही अपनी यात्रा क्यों स्थगित की. लोगों को उनकी भविष्य में होने वाली यात्राएं भी रोक देनी चाहिए.''

उन्होंने कहा कि रजनीकांत की फ़िल्में भारत और श्रीलंका के अलावा दूसरे देशों में भी दिखाई जाती हैं, रजनीकांत को अपने प्रशंसकों का ख़्याल रखना चाहिए.

वहीं तमिलनाडु में रहने वाले राजनीतिक विश्लेषक ज्ञानी कहते हैं कि इस फ़ैसले में राजनीति नज़र आती है.

सलमान संग काम करना चाहते हैं रजनीकांत

रजनीकांत शूटिंग में घायल

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वो कहते हैं कि तमिलनाडु के राजनीतिक दल अपनी राजनतिक मौज़ूदगी दिखाने के लिए श्रीलंकाई तमिलों की समस्या को एक अवसर के रूप में देखते हैं.

श्रीलंका में युद्ध पीड़ित तमिलों के लिए मुफ़्त में घर बनाने वाली कंपनी लाइका ही रजनीकांत की आने वाली फ़िल्म 2.0 का निर्माण कर रही है. यह एक साइंस फ़िक्शन है.

माना जा रहा है कि रजनीकांत ने इस आशंका से ये फ़ैसला लिया है कि कहीं कुछ तमिल संगठन साल उनकी फ़िल्म 2.0 का विरोध न करने लगें. साल 2014 में भी कुछ तमिल संगठनों ने रजनीकांत की फ़िल्म 'कत्थी' का जमकर विरोध किया था.

इन दिनों इस फ़िल्म की शूटिंग ज़ोर-शोर से चल रही है. इसके निर्देशक एस शंकर हैं. इसमें हिंदी फ़िल्मों के कलाकार अक्षय कुमार भी काम कर रहे हैं. यह फ़िल्म तमिल, तेलगु और हिंदी में एक साथ बन रही है.

बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे