भारत की 'गेमचेंजर' सुरंग की 10 ख़ास बातें

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption सुरंग का प्रवेश द्वार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग का उद्घाटन किया है जिसे भारत के लिए 'गेमचेंजर' बताया जा रहा है.

इस सुरंग के बारे में जानिए ख़ास 10 बातें-

  • केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस सुरंग के कारण चेनानी और नाश्री के बीच की दूरी 41 किलोमीटर के बजाय 10.9 किलोमीटर हो गई है. उन्होंने इस सुरंग को गेमचेंजर करार देते हुए कहा कि यह अपने आप में एक क्रांति है.
  • यह सुरंग हर मौसम में एक बढ़िया विकल्प साबित होगी, ख़ासकर बर्फबारी और बारिश के कारण जब सड़कें बंद हो जाती हैं, ऐसे में यह सुरंग काफी कारगर साबित होगी. इसकी लंबाई 9.2 किलोमीटर है.
इमेज कॉपीरइट Twitter
  • जितेंद्र सिंह के मुताबिक इस सुरंग के कारण हर साल 99 करोड़ रुपए का ईंधन बचेगा. उन्होंने कहा कि इस हिसाब से हर दिन 27 लाख रुपए का ईंधन कम खर्च होगा.
  • ये भी कहा जा रहा है कि यह सुरंग जम्मू-कश्मीर की रीढ़ साबित होगी. इससे प्रदेश को राजस्व बढ़ाने में मदद मिलेगी और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा.
  • चेनानी-नाश्री सुरंग भारत की पहली और दुनिया की छठी ऐसी सुरंग है जिसमें 'ट्रांसवर्स वेंटिलेशन सिस्टम' (कई सप्लाई माध्यमों से पूरी सुरंग में फ्रेश हवा का आना) लगा है. इससे पैसेंजर्स को ताजा हवा मिलती रहेगी.
इमेज कॉपीरइट Twitter
  • ऐसी लंबी सुरंगों में इस तरह के वेंटिलेशन सिस्टम का होना ज़रूरी होता है ताकि घुटन की स्थिति पैदा नहीं हो. लंबी सुरंगों में गाड़ियों के उत्सर्जन से निकलने वाली हानिकारक गैस और कार्बन डाई ऑक्साइड का स्तर ज़्यादा रहता है.
  • इस सुरंग को बनाने में 2,519 करोड़ का खर्च आया है. यह एशिया की सबसे लंबी सुरंगों में से एक है. यह सुरंग 286 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर फोर लेन राष्ट्रीय राजमार्ग का हिस्सा है.
इमेज कॉपीरइट PIB
  • इस सुरंग के कारण जम्मू से श्रीनगर जाना आसान हो गया है. जम्मू से श्रीनगर की यात्रा में अब ढाई घंटे से कम वक़्त लगेगा.
  • इस सुरंग में 124 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. किसी भी तरह के सुरक्षा ख़तरों से निपटने के लिए इसमें अडवांस स्कैनर भी लगे हुए हैं. अच्छी दृश्यता के लिए यह सुरंग थ्री टीअर लाइटिंग सिस्टम से लैस है.
  • यहां मोबाइल नेटवर्क की भी समस्या नहीं आएगी. बीएसएनएल, एयरटेल और आइडिया ने सुरंग के भीतर सिग्नल की व्यवस्था की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे