मीट का वादा करने वाले बीजेपी प्रत्याशी से पूछताछ करेगी पार्टी

  • 3 अप्रैल 2017
एन श्रीप्रकाश इमेज कॉपीरइट Twitter

बीजेपी की सरकारें कई राज्यों में अवैध बूचड़खानों के ख़िलाफ़ अभियान चला रही हैं.

लेकिन हाल में केरल में बीजेपी के एक उम्मीदवार ने चुनाव जीतने पर बूचड़खाने साफ़ और बेहतर बनाने और मुसलमानों के लिए हलाल मीट उपलब्ध कराने का वादा किया था.

केरल के मल्लापुरम लोकसभा सीट पर उपचुनाव होने वाला है. यहां से बीजेपी प्रत्याशी एन श्रीप्रकाश ने रविवार को कहा, ''क़ानून के दायरे में मैं साफ़ बूचड़खाने की व्यवस्था सुनिश्चित करूंगा.''

श्रीप्रकाश के बयान के ठीक बाद भारतीय जनता पार्टी की केरल यूनिट ने कहा था कि उनके बयान में कोई मुश्किल नहीं है.

लेकिन सोमवार को केरल भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष कुमानाम राजशेखरन ने श्रीप्रकाश से स्पष्टीकरण मांगने की बात कही है.

उन्होंने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, "मैं नहीं जानता कि उन्होंने ठीक ठीक क्या कहा है, लेकिन मैं उन्हें इस बारे में स्पष्टीकरण देने को कहूंगा. मैं मल्लापुरम ही जा रहा हूं."

भारत: क़ानूनन कहां-कहां हो सकती है गो हत्या?

श्रीप्रकाश ने अपने बयान में ये भी कहा था, ''यदि मुस्लिम भाई ग़ैर-हलाल मांस नहीं खाते हैं तो न खाएं. उनके लिए मैं हलाल मांस की व्यवस्था करूंगा. मैं बूचड़खानों को बढ़िया बनाऊंगा ताकि साफ़ और हलाल मीट उपलब्ध कराया जाए.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया था कि राज्य में कोई बिज़नेस को बंद नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि निराश होने की ज़रूरत नहीं है.

भारत में गोहत्या कब, कैसे पाप बना

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद से कई बूचड़खाने बंद किए गए हैं. उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि अवैध बूचड़खाने बंद किए जा रहे हैं. शनिवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भी कहा कि जो भी गोहत्या में लिप्त पाया जाए उसे लटका देना चाहिए.

गुजरात में गो हत्या के लिए क़ानून में उम्र कैद का प्रावधान किया गया है. लेकिन भारत में केरल उन राज्यों में से एक है जहां गोमांस खाने पर कोई पाबंदी नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे