राजस्थानः कथित गौरक्षकों के हमले में एक की मौत

इमेज कॉपीरइट Narayan Bareth

राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षकों के हमले में घायल हुए एक व्यक्ति की मौत हो गई है.

अलवर के बहरोड़ थाना क्षेत्र में गायें ले जा रहे हरियाणा के एक समूह पर शनिवार शाम को हमला किया गया था.

हमलावरों ने पिकअप गाड़ियां भी तोड़ दी थीं. अलवर पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया था जिनमें से एक की मौत मंगलवार को हो गई.

अलवर पुलिस ने बीबीसी से पहलू ख़ान नाम के व्यक्ति की मौत की पुष्टि की है.

पढ़ें- 'बीफ़ कारोबारी' भाजपा नेता को गौरक्षकों ने पीटा

जयपुर में गौरक्षकों पर एफ़आईआर

इमेज कॉपीरइट MANSI THAPLIYAL
Image caption कथित गोरक्षकों का एक समूह. फ़ाइल तस्वीर

एएसपी पारस जैन ने बीबीसी को बताया, "हाइवें पर गायें ले जा रहे समूह पर हुए हमले में घायल एक व्यक्ति की मौत मंगलवार को हुई है."

पुलिस ने गायें ले जा रहे इस समूह पर ही गोवंश अधिनियम के तहत पांच मामले दर्ज किए गए हैं.

डीएसपी परमाल गुर्जर ने बीबीसी को बताया, "हमले और मौत का मामला दर्ज किया गया है लेकिन इस मामले में अभी तक किसी को गिरफ़्तार नहीं किया गया है."

पुलिस के मुताबिक हमलावर स्थानीय लोग थे जिनकी पहचान वीडियो साक्ष्यों के आधार पर की जा रही है.

डीएसपी के मुताबिक, "हमलावर गौरक्षा समूहों से जुड़े भी हो सकते हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए वीडियो में कथित गौरक्षक पिक-अप गाड़ी को तोड़ते हुए और गायें ले जा रहे लोगों को बुरी तरह पीटते हुए दिख रहे हैं.

वायरल होने के बाद इन वीडियो को फ़ेसबुक से हटा दिया गया है.

अलवर पुलिस के मुताबिक जयपुर से गायें लेकर हरियाणा के मेवात के नूहं जा रहे लोगों ने गायों की ख़रीद के दस्तावेज भी दिखाए थे लेकिन उत्तेजित भीड़ ने हमला कर दिया.

गाड़ियों को राष्ट्रीय राजमार्ग आठ पर जगुवास के पास रोका गया था.

मेवात के समाजिक कार्यकर्ता नूर मोहम्मद का कहना है कि घटना के बाद लोगो में ख़ौफ़ बैठ गया है. वे कहते है ये लोग जयपुर से दुधारू गाय खरीद कर ट्रक में भर कर हरियाणा जा रहे थे.

मृतक पहलू ख़ान के चाचा हुसैन ख़ान ने बीबीसी को बताया, "पहलू ख़ान अपने बेटे के लिए गायें ख़रीदने राजस्थान के पशु मेले गए थे. उन्होंने गायें ख़रीदने के क़ाग़ज़ भी दिखाए जिन्हें फाड़ दिया गया."

हुसैन ख़ान के मुताबिक गायें दुधारू थीं जिन्हें दूध के लिए मेले से ख़रीद कर लाया जा रहा था. उनके मुताबिक़ गायों में से अच्छी नस्ल की दो गायों की क़ीमत 85 हज़ार रुपए थी जबकि दो अन्य गायों की क़ीमत 45 हज़ार रुपए थे.

हुसैन का आरोप है कि हमलावरों ने गायें ला रहे लोगों के पैसे भी छीने हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे