पोस्टकार्ड से भेजा तलाक़, हो गए गिरफ़्तार

  • 5 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट AFP/getty

सोशल मीडिया और ई-मेल के ज़माने में हैदराबाद के एक व्यक्ति ने पोस्टकार्ड भेजकर अपनी पत्नी को तलाक़ दे दिया.

अब उसी व्यक्ति पर बिना ज़रूरी दस्तावेज़ के शादी करने और बलात्कार का आरोप है.

38 वर्षीय मोहम्मद हनीफ़ ने 9 मार्च को अपनी पहली पत्नी से इजाज़त लेकर 26 वर्षीय तलाक़शुदा महिला से शादी की थी.

ठीक एक हफ़्ते बाद 16 मार्च को उन्होने अपनी नई दुल्हन को एक पोस्टकार्ड भेजा जिसमें तीन बार -तलाक़ तलाक़ तलाक़ लिखा था.

औरतें जो तलाकशुदा पति को वापस पाने के लिए पैसे देकर अजनबी के साथ सो रही हैं

भोपाल में तलाक़ से ज़्यादा ख़ुला के मामले

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बीवी ने किया मुक़दमा दर्ज

हैरान और नाराज़ दुल्हन ख़ुद को रोक नहीं पाई और 30 मार्च को अपने पति के ख़िलाफ़ धोखाधड़ी और प्रताड़ना का मुक़दमा दर्ज करा दिया.

हनीफ़ को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया और ज़मानत पर रिहा भी कर दिया.

लेकिन जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि जिस मौलवी ने हनीफ़ की शादी करवाई थी उन्होंने इस जोड़े को शादी के लिए ज़रूरी काग़ज़ात मुहैया नहीं करवाए हैं.

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) वी सत्यनारायण ने बीबीसी को बताया, ''निकाहनामा अब भी मौलवी के पास ही है क्योंकि हनीफ़ ने जिस तलाक़शुदा से शादी की है उन्होने अपने पहले शऔहर से तलाक़ के काग़ज़ात जमा नहीं करवाए हैं. उन्हें वो काग़ज़ात नहीं मिल पाए थे. हमारी जांच में पता चला है कि जो निकाहनामा पेश किया गया है वो सही नहीं है.''

सत्यनारायण ने कहा '' हम पहले हनीफ़ की ज़मानत रद्द कर रहे हैं और फिर क़ानूनी सलाह के मुताबिक़ उन्हें बलात्कार के आरोप में गिरफ़्तार किया जाएगा.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे