हिंदू लड़की से प्रेम में मुस्लिम लड़के की पिटाई से मौत

  • 7 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

झारखंड के गुमला में एक मुस्लिम युवक की पिटाई से मौत के बाद तनाव है. पिटाई का आरोप उनकी हिंदू प्रेमिका के घरवालों पर लगाया गया है.

इस घटना के विरोध में वहां के टावर चौक पर जाम लगाकर लोगों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं. इसके बाद पुलिस ने शहर में दो बार फ्लैग मार्च भी निकाला.

गुमला के पुलिस अधीक्षक चंदन झा ने बीबीसी को बताया, "यह मामला प्रेम प्रसंग का है. लड़की की उम्र सिर्फ 15-16 साल है. लिहाजा, उसके घरवालों को यह संबंध मंजूर नहीं था."

'लव जिहाद' बनाम 'प्रेम युद्ध' की सच्चाई

'दंगे फिर लव जिहाद, डर गहरा होता जाता है'

पुलिस अधीक्षक ने कहा, "देर रात वह अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर गया था. उसी दौरान बुरी तरह पीटे जाने के कारण सालिक नामक युवक की मौत हो गयी. इस मामले के तीन मुख्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है."

उधर, मृतक सालिक के पिता रजा कालोनी निवासी मिन्हाज ने बताया कि उनका बेटा रामनवमी की शाम साढ़े सात बजे अपने घर से निकला था.

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

इसके दो घंटे के बाद उसका फोन बंद हो गया. तो घरवालों ने उसकी तलाश शुरू की. इस बीच उन्हें किसी ने यह बताया कि सालिक को उसकी प्रेमिका के सोसो महली टोली स्थित घर में बांधकर पीटा जा रहा है.

मामला दो संप्रदायों का था. लिहाजा, सालिक के घरवालों ने इसकी सूचना पुलिस को दी और अंजुमन इस्लामिया के सदस्यों को साथ लेकर लड़की के घर पहुंचे.

मिन्हाज ने बताया कि वहां सालिक पिटाई के बाद अधमरा पड़ा मिला. उसे सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे रांची ले जाने की सलाह दी. इस दौरान रांची पहुंचने से पहले ही रास्ते में उसकी मौत हो गयी.

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

सालिक का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर आनंद किशोर उरांव ने मीडिया को बताया उसके गुप्तांग और शरीर के दूसरे हिस्सों में अंदरूनी चोट के निशान थे. उसका एक हाथ और पैर भी टूट गया था.

पुलिस ने इस मामले में सालिक की प्रेमिका, उसकी मां और कुछ और लोगों से लंबी पूछताछ की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे