श्रीनगर उपचुनाव में 6.5 फ़ीसदी वोटिंग, 8 की मौत

  • 10 अप्रैल 2017
श्रीनगर में एक मतदान कर्मचारी. इमेज कॉपीरइट AFP

भारत प्रशासित कश्मीर की श्रीनगर लोकसभा सीट पर रविवार को हुए उपचुनाव में मतदान हिंसा के बीच ख़त्म हो गया.

मतदान के दौरान सुरक्षाबलों और स्थानीय लोगों की झड़प में बडगाम ज़िले में सात लोग मारे गए. अलगाववादियों के बहिष्कार की अपील का ख़ासा असर रहा और इस सीट पर महज 6.5 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई.

इस लोकसभा क्षेत्र में कुल 12 लाख 60 हज़ार मतदाता हैं, लेकिन केवल 80 हज़ार मतदाताओं ने ही मतदान किया.

इस सीट पर चुनाव के लिए कुल 1500 मतदान केंद्र बनाए गए थे. 50 मतदान केंद्रों से हिंसा की ख़बर है.

उग्र भीड़ ने श्रीनगर, बडगाम और गांदरबल के कई मतदान केंद्रों पर पत्थरबाज़ी की. श्रीनगर लोकसभा क्षेत्र में ये तीनों ज़िले आते हैं.

जब चुनाव प्रचार में उतारा जयललिता का नकली 'शव'

मीट का वादा करने वाले बीजेपी प्रत्याशी से पूछताछ करेगी पार्टी

इमेज कॉपीरइट AFP

श्रीनगर उपचुनाव में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख़ अब्दुल्ला नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस के साझा उम्मीदवार हैं.

प्रदेश में सत्तारूढ़ पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के सांसद तारिक़ हामिद कार्रा की सदस्यता से इस्तीफ़ा देने के कारण यहां उपचुनाव कराया गया.

उन्होंने सरकार पर जनविरोधी नीतियों पर चलने का आरोप लगाया था और पार्टी से भी इस्तीफ़ा दे दिया था.

मतदान का विरोध करने के लिए अलगाववादियों ने प्रदर्शन की अपील की थी.

इसे देखते हुए मतदान केंद्रों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा बलों के 20 हज़ार अतिरिक्त जवान तैनात किए गए थे.

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images
Image caption पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला एनसी और कांग्रेस के साझा उम्मीदवार हैं

कश्मीर की श्रीनगर लोकसभा सीट के अलावा देश के आठ राज्यों की 10 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए रविवार को मतदान हुआ. इन सीटों पर मतगणना 13 अप्रैल को कराई जाएगी.

असम की धेमाजी सीट, हिमाचल प्रदेश की भोरंज, मध्य प्रदेश के भिंड जिले की अटेर और उमरिया जिले की बांधवगढ़, पश्चिम बंगाल की कांठी, दिल्ली की राजौरी गार्डन, राजस्थान की धौलपुर, कर्नाटक की नंजनगढ़ और झारखंड में पाकुड़ जिले की लिट्टीपाड़ा विधानसभा सीट के लिए वोट डाले गए.

मध्य प्रदेश के भिंड जिले में हो रहे मतदान के दौरान ईवीएम में खराबी की शिकायतें मिलीं हैं. वहीं कुछ जगह पर छिटपुट हिंसा की भी ख़बरें हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे