प्रेस रिव्यू: 'जेएनयू की रिसर्च सीटों में भारी कटौती'

'द इंडियन एक्सप्रेस'की एक रिपोर्ट के मुताबिक जवाहरलाल यूनिवर्सिटी के 31 सेंटर्स और दो विशेष सेंटर्स में आगामी शिक्षा सत्र में एक भी शोध छात्र को दाख़िला नहीं मिलेगा.

रिपोर्ट के मुताबिक दिसंबर 2016 में अकादमिक परिषद की बैठक में लिए गए फ़ैसले और जारी किए गए ई-प्रोस्पेक्टस में भारी अंतर है.

जेएनयू की अकादमिक परिषद ने 1408 शोध छात्रों के प्रवेश की अनुमति दी थी लेकिन शिक्षा सत्र 2017-18 में सिर्फ़ 242 शोध छात्रों को ही प्रवेश दिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट SPL

'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल चिकनगुनिया और डेंगू की बीमारी समय से पहले दस्तक देगी.

रिपोर्ट के मुताबिक भले ही मानसून आने में अभी कई महीने बाक़ी हों, लेकिन दिल्ली शहर में मच्छरों ने लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया है.

अधिकारियों के मुताबिक मच्छरों की संख्या में भारी वृद्धि हुई है जिसके नतीजे में चिकनगुनिया, डेंगू और मलेरिया के ज़्यादा मामले सामने आ रहे हैं.

आठ अप्रैल तक दिल्ली के अस्पतालों में चिकनगुनिया के 79, डेंगू के 24 और मलेरिया के 13 मामले सामने आ चुके हैं.

'द इंडियन एक्सप्रेस' की एक रिपोर्ट के मुताबिक गुड़गांव के एस्सेल टॉवर बहुमंज़िला रिहायशी इमारत में लड़कों के यहां लड़कियों के आने और लड़कियों के घर पर लड़कों के आने पर पाबंदी लगा दी गई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार का मानना है कि देशभर में गाय को लेकर एक क़ानून लागू करना मुमकिन नहीं हैं. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि देशभर में गाय की हत्या को लेकर समान क़ानून होना चाहिए.

अख़बार ने एक केंद्रीय अधिकारी के हवाले से कहा है कि आरएसएस प्रमुख की देश भर में गो हत्या को लेकर एक क़ानून लागू करने की मांग पूरी करना मुमकिन नहीं हैं.

उनका कहना था कि ऐसा इसलिए है क्योंकि ये मामला राज्यों का है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे