सुदर्शन न्यूज़ के 'राष्ट्रवादी' संपादक गिरफ़्तार

  • 13 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट Suresh Chavhanke

उत्तर प्रदेश पुलिस ने सुदर्शन न्यूज़ के संपादक और सीएमडी सुरेश चव्हाणके को लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ़्तार किया है.

सुरेश चव्हाणके पर संभल में कई धाराओं के तहत मामला दर्ज है.

संभल के पुलिस अधीक्षक रवि शंकर छवि ने बीबीसी से चव्हाणके की गिरफ़्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि उन पर संभल में भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 259ए और 505 (1ए) के तहत मामला दर्ज है.

पुलिस के मुताबिक सुरेश चव्हाणके पर समुदायों के बीच नफ़रत फैलाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और अफ़वाहें फैलाने के आरोप हैं.

इमेज कॉपीरइट Suresh Chavhanke
Image caption सुरेश चव्हाणके पर संभल को लेकर भ्रामक रिपोर्टिंग करने के आरोप हैं.

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक इसी मामले में उनकी गिरफ़्तारी हुई है.

अपनी गिरफ़्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए सुरेश चव्हाणके ने बीबीसी से कहा, "मुझ पर निराधार एफ़आईआर दर्ज की गई है."

इमेज कॉपीरइट Suresh Chavhanke

सुरेश चव्हाणके पर आरोप है कि उन्होंने अपने चैनल पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाली ख़बरें प्रसारित की हैं.

इमेज कॉपीरइट Suresh Chavanke
Image caption उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ सुरेश चव्हाणके.

सुरेश चव्हाणके ने 13 अप्रैल को संभल के एक धर्मस्थल में जल चढ़ाने का एलान किया था जिसके बाद एक स्थानीय कांग्रेसी नेता इतरत हुसैन बाबर ने चव्हाणके के संभल पहुंचने की स्थिति में उन पर हमला करने की धमकी दी थी.

पुलिस ने ख़ुद को शहर की जामा मस्जिद का इमाम बताने वाले बाबर को भी एफ़आईआर में नामजद किया है. एक स्थानीय भाजपा नेता का नाम भी एफ़आईआर में है.

शहर में तनाव के मद्देनज़र भारी पुलिस बल तैनात किए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)