प्रेस रिव्यू: 'जाधव को मिली फ़ांसी की सज़ा सही'

  • 15 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट PTI

पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में फ़ांसी की सज़ा का सामने कर रहे भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव से संबंधित ख़बरों को सभी प्रमुख अख़बारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है.

नवभारत टाइम्स ने लिखा है कि भारत ने शुक्रवार को 14वीं बार कुलभूषण जाधव से मुलाक़ात की इजाज़त मांगी जिसे पाकिस्तान ने ठुकरा दिया.

उधर पाकिस्तान के पीएम नवाज़ शरीफ़ के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने कहा कि जाधव के मुद्दे पर भड़काऊ बयानों से दोनों देशों के बीच संबंधों में तनाव ही बढ़ेगा. अजीज़ ने जाधव को मिली सज़ा को सही ठहराते हुए कहा, " कुलभूषण जाधव पाकिस्तान में जासूसी, तोड़फोड़ और आतंकवाद के लिए ज़िम्मेदार पाए गए हैं. उन्हें पाकिस्तान के क़ानून के मुताबिक पूरी तरह से पारदर्शी प्रक्रिया के तहत सज़ा सुनाई गई है."

इमेज कॉपीरइट FILE PHOTO

हिन्दुस्तान टाइम्स ने लिखा है कि भुवनेश्वर में बीजेपी की दो दिन तक चलने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सबकी नज़रें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर होंगी. बैठक स्थल पर लगे पोस्टर से भी पार्टी में उनके बढ़ते क़द का संकेत मिला. एक पोस्टर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई और वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी हैं तो हॉल में दूसरी तरफ लगे पोस्टर में आदित्यनाथ को उनके शपथग्रहण में नेताओं से घिरा हुआ दिखाया गया है. वहीं जनता मैदान के बाहर लगे पोस्टर में पार्टी के सभी 13 मुख्यमंत्रियों को देखा जा सकता है, लेकिन सिर्फ आदित्यनाथ ही हैं जिनका पोस्टर हॉल के अंदर भी लगाया गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

अमर उजाला ने आयकर विभाग के क्लीन मनी अभियान को पहले पन्ने पर जगह देते हुए लिखा कि नोटबंदी के बाद काले धन का पता लगाने को लेकर आयकर विभाग की ओर से शुरू किए गए ऑपरेशन क्लीन मनी अभियान के दूसरे चरण में न सिर्फ काफी मात्रा में अघोषित रकम का पता चला है, बल्कि 60 हज़ार से ज़्यादा ऐसे लोगों को छांटा गया है जिन्होने नोटबंदी के दौरान अत्याधिक नकद बिक्री की थी. ऐसे लोगों को जल्दी ही नोटिस भेजा जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे