तेंदुलकर 23 दिन आए राज्य सभा, रेखा 18

इमेज कॉपीरइट Madhu pal

रेखा और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का नाम राज्यसभा के उन नामांकित सदस्यों में शामिल है जिनका राज्य सभा में हाज़िरी के हिसाब से प्रदर्शन सबसे ख़राब रहा है.

डेटा पत्रकारिता पोर्टल Factly.in ने विश्लेषण में ये बात सामने आई है.

इसके अनुसार 2012 में अपने नामांकन के बाद से 348 दिनों में तेंदुलकर केवल 23 दिन ही उपस्थित रहे हैं, जबकि रेखा की उपस्थिति केवल 18 दिन की रही हैं.

वहीं 2012 में अपने नामांकन के बाद से रेखा किसी भी सत्र में एक दिन से ज्यादा उपस्थित नहीं रहीं हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

राज्यसभा के आंकड़ों के मुताबिक तेंदुलकर पर 58.8 लाख रुपए खर्च किए गए हैं जबकि रेखा पर वेतन और अन्य खर्च की राशि 65 लाख रुपए हैं।

यानी रेखा पर प्रति दिन 3,60,000 रुपए और तेंदुलकर पर रोज़ाना 2,56,000 रुपए का खर्च होता है.

हर सांसद को कुछ विशेष धनराशि मिलती है

  • वेतन- प्रति माह 50,000 रुपए
  • निर्वाचन क्षेत्र भत्ता- हर महीने 45,000 रुपए
  • कार्यालय व्यय भत्ता- 15,000 रुपए प्रति माह
  • यात्रा और दैनिक भत्ता (टीए / डीए)-बदलता रहता है.

राज्यसभा में कुल 12 नामांकित सदस्य हैं. अगर नामांकित सदस्यों की राज्य सभा में हाज़िरी देखें तो सांभाजी छ्त्रपति की उपस्थिति 96.88 फ़ीसदी रही.

  • सांभाजी छ्त्रपति- 96.88 फ़ीसदी
  • सुब्रमण्यम स्वामी- 92.41
  • स्वप्न दास गुप्ता- 89.87
  • केटीएस तुलसी-88.43
  • रूपा गांगुली-84.09
  • के पारासरन-82.42
  • अनु आग़ा-69.83
  • नरेंद्र जाधव-65.82
  • सुरेश गोपी-64.56
  • एमसी मेरी कॉम-60.76
  • सचिन तेंदुलकर-6.61
  • रेखा- 5.17
इमेज कॉपीरइट AFP

तेंदुलकर ने पाँच सालों में करीब 22 सवाल पूछे हैं तो रेखा ने एक भी सवाल नहीं पूछा है. राज्यसभा में करीब पांच साल के कार्यकाल में तेंदुलकर और रेखा ने एक भी बहस में भाग नहीं लिया.

2016 में नामांकित हुए मलयालम अभिनेता सुरेश गोपी ने 3 और मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने 2 बहस में भाग लिया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)