जो भी किया खुल्लम खुल्ला किया है: उमा भारती

इमेज कॉपीरइट AFP

बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उमा भारती समेत 13 लोगों पर आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने का आदेश दिया है.

इसके बाद उमा भारती ने एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, "अपराध अभी प्रमाणित नहीं हुआ है. और मैं राम, गंगा और अयोध्या के लिए इंद्र का पद भी छोड़ सकती हूं मंत्री का पद तो बहुत कम है."

जिन पर चलेगा बाबरी केस में मुकदमा

बाबरी मस्जिद: केस जो अदालत में हैं

उन्होंने माना कि 6 दिसंबर को वो अयोध्या में मौजूद थीं लेकिन उन्होंने साजिश के आरोपों से इंकार किया है. उन्होंने कहा, "मैं 6 दिसंबर को वहां मौजूद थी, इसमें साजिश की क्या बात है."

उन्होंने कहा कि वो पद से चिपकनेवाली व्यक्ति नहीं हैं और वकील उनका पक्ष अदालत में रखेंगे.

उन्होंने कहा, "जो भी किया है खुल्लम खुल्ला किया है."

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty

जो बातें उन्होंने कही-

  • कांग्रेस को मेरा इस्तीफा मांगने का हक़ नहीं है क्योंकि उन्होंने देश में इमरजेंसी लगाई थी और लाखों लोगों को बधियाकरण कराया था.
  • जब 1984 में दस हजार सिख मार दिए गए, उस समय सोनिया गांधी राजीव गांधी के ही घर में थी, तो क्या उनको उसका साजिशकर्ता माना जाए.
  • तिरंगा फहराने के आरोप में मेरे खिलाफ फैसला आया था. इसके बाद मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इस मामले में अभी मुकदमा शुरू हुआ है, इसलिए इस्तीफा नहीं दूंगी.
  • मैंने हक से तिरंगा लहराया है, गंगा की सफाई भी करूंगी.
  • सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद अब भव्य राम मंदिर के बनने का समय आ गया है.
  • ज़मीन किसकी है इस पर विवाद है जो कोर्ट के भीतर भी सुलझ सकता है और कोर्ट के बाहर भी.
  • अयोध्या, गाय, गंगा और तिरंगा के मामले में जान की बाज़ी लगा सकती हूं.

आडवाणी - न ख़ुदा मिला न विसाले सनमदी

अयोध्या: 'अपराधों के फ़ैसले के बिना समझौता कैसे?'

उन्होंने कहा कि वो गुरुवार को अयोध्या जाएंगी, "राम लला और हनुमान का आभार जताने के लिए मैं अयोध्या जा रही हूं."

आगे उन्होंने कहा, "राम मंदिर बन कर रहेगा, कोई माई का लाल उसे नहीं रोक सकता."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे