प्रेस रिव्यू: 'ट्रिपल तलाक पर मुस्लिम महिलाओं की राय माँगिए'

  • 20 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images

द टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी ख़बर के मुताबिक़ चीन ने अरुणाचल प्रदेश की छह जगहों के नाम बदल दिए हैं. अख़बार ने चीन के टेबलॉयड 'ग्लोबल टाइम्स' का हवाला देते हुए कहा कि चीन ने अपने आधिकारिक नक्शे में इन जगहों के नाम बदले और कहा कि ये पूरी तरह से नियमों के हिसाब से की गई कार्रवाई है.

द टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक़ समझा जा रहा है कि इस महीने की शुरुआत में तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा की अरुणाचल यात्रा के विरोध में चीन ने ऐसा किया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

द इंडियन एक्सप्रेस में पहले पन्ने पर ख़बर छपी है कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं की राय जानने की मुहिम शुरू कर दी है.

अख़बार के मुताबिक़ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी कैबिनेट की महिला मंत्रियों से कहा है कि वो इस मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं की राय इकट्ठा करना शुरू कर दें.

योगी पहले ही ट्रिपल तलाक की आलोचना कर चुके हैं और कह चुके हैं कि ये प्रथा महिलाओं का शोषण करती है.

हिंदुस्तान टाइम्स में पहने पन्ने पर जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसानों की ख़बर छापी है. ये किसान पिछले कई दिनों से कर्ज़ माफ़ी को लेकर राजधानी दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं और उनके विरोध के तरीके सुर्ख़ियां बटोर रहे हैं.

इस दफ़ा विरोध प्रदर्शन के नए तरीके के तहत इन किसानों में से एक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे कपड़े पहने और अपने साथी किसानों को कोड़े लगाए. ये किसान इससे पहले मानव खोपड़ी लेकर भी प्रदर्शन कर चुके हैं साथ ही प्रधानमंत्री आवास के सामने निर्वस्त्र होकर भी प्रदर्शन कर चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

द पायोनियर अख़बार में छपी ख़बर के मुताबिक़ कुलभूषण जाधव को मिली फ़ांसी की सज़ा के मामले में भारत ने पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को तलब किया. भारतीय नागरिक और रिटायर्ड भारतीय नेवी अफ़सर कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने जासूसी के आरोप में फ़ांसी की सज़ा सुनाई है.

पाकिस्तानी उप उच्चायुक्त को तलब कर भारत ने एक बार फिर जाधव को काउंसलर एक्सिस देने की मांग की. जाधव को काउंसलर एक्सिस देने की कई अपील पाकिस्तान कथित तौर पर ठुकरा चुका है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे