प्रेस रिव्यू: सैफ़ अली ख़ान बोले- 'राष्ट्रवाद और हिंदुत्व एक? मुझे नहीं लगता'

  • 23 अप्रैल 2017
सैफ़ अली खान इमेज कॉपीरइट AFP

अमूमन फ़िल्मी सितारे राजनीतिक रूप से संवेदनशील मुद्दों पर बोलने से हिचकते हैं लेकिन बॉलीवुड एक्टर सैफ़ अली ख़ान ने इंडियन एक्सप्रेस अखबार से कई मुद्दों पर बेबाकी से बात की है.

अखबार ने एंकर स्टोरी में सैफ़ अली खान का इंटरव्यू पब्लिश किया है.

सैफ़ ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा है, "राष्ट्रवाद गज़ब की चीज है और विकास के लिए अहम भी. लेकिन क्या राष्ट्रवाद और हिंदुत्व एक ही है? मुझे ऐसा नहीं लगता. एक ऐसा देश जो धर्मनिरपेक्ष रहा है, यहां अल्पसंख्यक भी रहते हैं और ये बात उन्हें असहज कर देगी. ये बात मुझ पर लागू नहीं होती क्योंकि हम खाते-पीते लोग हैं और हमारी दुनिया अपने में सिमटी हुई है."

उन्होंने आगे कहा- "मुझे तो हिंदू स्टेट में रहने से भी एतराज़ नहीं है, बस सभी के लिए क़ानून एक ही होना चाहिए."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दि हिंदू के मुताबिक केंद्र सरकार सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों में फ्री वाईफाई सेवा मुहैया कराने की तैयारी में है.

ये सेवा जुलाई के आखिर तक शुरू हो सकती है ताकि विश्वविद्यालय के छात्र अपने अकादमिक कार्यों के लिए ऑनलाइन संसाधनों का उपयोग कर सकें.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक साल 2016 में पश्चिमी देशों में विदेशियों के लिए नौकरी के कड़े प्रावधान का असर खाड़ी देशों में भी दिखा है.

छह खाड़ी देशों में भारतीयों को मिल रही नौकरियों में 33 प्रतिशत की कमी हुई है.

रविवार को एक बार फिर, लाखों आधार नंबरों के सार्वजनिक हो जाने की ख़बर के कारण आधार सुर्खियों में है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक झारखंड सरकार की एक वेबसाइट पर लाखों पेंशनधारकों के आधार नंबर सार्वजनिक हो गए.

यानी वेबसाइट पर लाखों लोगों के नाम, उनका पता, उनके बैंक अकाउंट की जानकारी सब सार्वजनिक हो गई.

आधार कानून निजता की गारंटी देता है. आधार एक्ट के तहत आधार नंबर प्रकाशित करना गलत है.

इमेज कॉपीरइट AFP

जनसत्ता के मुताबिक ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तिहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के नेता और सांसद असदउद्दीन ओवैसी ने कहा है कि किसी भी धार्मिक समुदाय को अधिकार देने वाली बीजेपी कौन होती है? ये अधिकार मुसलमानों को संविधान ने दिया है.

ओवैसी का ये बयान टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि बीजेपी जानती है कि मुस्लिम समुदाय के लोग उनकी पार्टी को वोट नहीं देते हैं फिर भी बीजेपी मुसलमानों का पूरा सम्मान करती है.

ओवैसी ने कहा, "रविशंकर प्रसाद का कहना कि हमनें उन्हें सम्मान दिया, अधिकार दिया, आखिर ये हम कौन हैं? मुसलमानों को अधिकार संविधान ने दिया है, और संविधान इन अधिकारों को मुहैया कराने की गारंटी लेता है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)