झारखंड: आख़िर कौन फेंक गया बोरे में 14 भ्रूण

भ्रूण हत्या इमेज कॉपीरइट Thinkstock

झारखंड के देवघर ज़िले की पुलिस ने एक बोरे में बंद 14 भ्रूणों को बरामद किया है. इनमें से ज्यादातर मादा भ्रूण हैं.

पुलिस इस मामले की जांच कर रही है और इन भ्रूणों का सैंपल लिया जा रहा है. इनकी डीएनए जांच कराई जाएगी. यह बरामदगी मोहनपुर थाने के डूमरथर गांव से की गई है.

मोहनपुर के थाना प्रभारी दीपक कुमार ने बीबीसी को बताया, "डूमरथर के ग्रामीणों ने रविवार की रात झाड़ियों में एक लावारिस बोरा पड़े होने की सूचना दी थी. पुलिस को बोरा खोलने पर शीशे के जार में दो अर्द्धविकसित भ्रूण मिले. यह बोरा देवघर-दुमका रोड के किनारे झाड़ियों में फेंका हुआ था."

रविवार देर शाम फिर से वहां एक और बोरा होने की अफ़वाह फैली. इसकी सच्चाई जानने गई पुलिस को वहां एक और बोरा मिला. उसमें शीशे के जारों में बंद 12 और भ्रूण मिले. पूछताछ करने पर किसी ग्रामीण ने यह नहीं बताया कि यह बोरा कौन फेंक गया था.

मोहनपुर थाने के प्रभारी ने बताया कि पुलिस इसकी जांच कर रही है. देवघर से डॉक्टरों को बुलाया गया है ताकि इनका सैंपल लिया जा सके. इसके बाद इन्हें दफ़नाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

विशेष थाना रोकेगा भ्रूण हत्या

कन्या भ्रूण हत्या पर एक बाल फिल्म

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

उन्होंने बताया कि इस मामले में स्टेशन डायरी तैयार की गई है. इसके बाद भ्रूण हत्या की एफ़आइआर भी दर्ज की जाएगी.

देवघर की एसपी एस विजयालक्ष्मी ने बीबीसी से कहा, "ये किसी नर्सिंग होम का मेडिकल वेस्ट हो सकता है. उन्हें आशंका है कि भ्रूण की जांच कर उनका अबॉर्शन कराने वाले लोगों की इसमें भूमिका हो सकती है. पुलिस हर एंगल से इसकी जांच कर रही है. तत्काल किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता."

उन्होंने बताया कि मोहनपुर पुलिस को इस केस की गहराई से जांच करने को कहा गया है.

'लाखों बच्चियों की भ्रूण हत्या'

भ्रूण हत्या के लिए बन सकेंगे फास्ट ट्रैक कोर्ट?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे