500 किलो वाली महिला की बहन ने डॉक्टर को कहा झूठा

  • 25 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट SAIFEE HOSPITAL

दुनिया की सबसे भारी माने जाने वाली महिला मिस्र की एमान अहमद अब्द अल एती की बहन ने भारतीय डॉक्टरों पर झूठ बोलने का आरोप लगाया.

एमान अहमद का मुंबई के सैफ़ी अस्पताल में ऑपरेशन हुआ था जिसके बाद डॉक्टरों ने दावा किया था कि उनका वज़न 500 से घटकर 250 किलो रह गया है.

भारत में सर्जरी के बाद आधी हुई 500 किलो की महिला

लेकिन उनकी बहन ने बीबीसी को बताया कि एमान की हालत अब भी बहुत ख़राब है और उन्हें कभी भी स्ट्रोक (पक्षाघात) हो सकता है.

वहीं अस्पताल लगातार दावा कर रहा है कि एमान की बहन के सभी आरोप ग़लत हैं.

इमेज कॉपीरइट SAIFEE HOSPITAL

विवाद तब शुरू हुआ जब सोमवार को एमान की बहन शाइमा सलीम ने सोशल मीडिया पर एक शॉर्ट वीडियो जारी किया जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी बहन अब भी बोल या हिल नहीं सकतीं और अब भी नली के ज़रिए ही खा या पी सकती हैं.

शाइमा ने कहा, "डॉक्टर मुफ़्फ़ज़ल लकड़ावाला के नेतृत्व में सर्जरी हुई. उन्होंने ऑपरेशन से पहले मेरी बहन का वज़न नहीं लिया और ना ही सर्जरी के बाद. अगर वो मेरी बहन का वज़न कम करने का दावा कर रहे हैं तो फिर वो वीडियो क्यों नहीं दिखाते."

लेकिन अस्पताल के प्रवक्ता ने कहा कि सोमवार को एमान का वज़न फिर लिया गया और अब उनका वज़न 172 किलो है.

डॉक्टर लकड़ावाला ने भी ट्वीट कर एमान की बहन के आरोप को नकार दिया.

इमेज कॉपीरइट Twitter

अब्द अल एती के परिवार वालों का कहना है कि अपने वज़न के कारण 25 वर्षों तक वे अपने घर से नहीं निकल पाईं.

अस्पताल का ये भी कहना है कि अब वे व्हीलचेयर पर ज़्यादा समय तक बैठ सकती हैं. अस्पताल ने सर्जरी की बाद की उनकी तस्वीरें भी जारी की हैं.

लेकिन शाइमा अस्पताल की रिपोर्ट से ख़ुश नहीं हैं. सैफ़ी अस्पताल का मानना है कि एमान का इलाज अब पूरा हो चुका है और जल्द ही वो घर वापस जा सकती हैं.

लेकिन एमान के घर वालों का मानना है कि अभी उन्हें डॉक्टरी देखरेख की बहुत ज़रूरत है और उन्हें घर भेजने के लिए कहना अस्पताल प्रशासन की जल्दबाज़ी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे