दिल्ली पुलिस ने दिनाकरण को गिरफ्तार किया

  • 26 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट PTI

दिल्ली पुलिस ने एआईएडीएमके (अम्मा) पार्टी के नेता टीटीवी दिनाकरण को चार दिन तक पूछताछ करने के बाद गिरफ़्तार कर लिया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक दिनाकरण पर चुनाव आयोग के अधिकारियों को रिश्वत की पेशकश के आरोप हैं.

दिनाकरण तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके (अम्मा) के उपाध्यक्ष हैं.

आरोप हैं कि उन्होंने पार्टी के चुनाव चिन्ह 'दो पत्ती' को अपनी पार्टी के पास रखने के लिए चुनाव आयोग के अधिकारी को रिश्वत की पेशकश की थी.

'पार्टी से अलग किए गए शशिकला और दिनाकरण'

हारकर भी जीत गए हैं पनीरसेल्वम

इमेज कॉपीरइट Getty Images

एआईएडीएमके पार्टी के टूटने के बाद घटक दलों में हुए विवाद के बाद चुनाव आयोग ने दिवंगत जयललिता की पार्टी के चुनाव चिन्ह दो पत्ती को अपने पास सुरक्षित रख लिया था.

पार्टी के दोनों ही धड़े इस चुनाव चिन्ह पर अपना-अपना दावा ठोक रहे थे.

53 वर्षीय दिनाकरण के साथ उनके मित्र मल्लिकार्जुन को भी गिरफ्तार किया गया है.

आरोप है कि मल्लिकार्जुन ने दिनाकरण को अपने घर छुपाया था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शशिकला भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद हैं.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि दिनाकरण ने इसी मामले में गिरफ्तार मध्यस्थ सुकेश चंद्रशेखर से मुलाक़ात की थी.

दिनाकरण ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को नकारते हुए कहा है कि उन्होंने किसी को कोई रिश्वत नहीं दी है.

मल्लिकार्जुन को दिल्ली के एक होटल से एक करोड़ तीस लाख रुपयों के साथ गिरफ़्तार किया गया था.

उन पर आरोप है कि वो ये पैसा चुनाव आयोग के अधिकारियों को रिश्वत में देने के लिए लाए थे.

मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत ने दिल्ली पुलिस से पूछा था कि इस मामले में अब तक दिनाकरण को क्यों गिरफ्तार नहीं किया गया है.

दिनाकरण पार्टी की अध्यक्ष वीके शशिकला के रिश्तेदार हैं. शशिकला भी फिलहाल जेल में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे