चेतन भगत पर 'चोरी' का आरोप, नॉवेल की बिक्री पर रोक

  • 26 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट Chetan Bhagat FB Page

चर्चित लेखक चेतन भगत के नॉवेल 'वन इंडियन गर्ल' की बिक्री पर एक जून तक के लिए रोक लगा दी गई है.

बेंगलूरु सिटी सिविल और सेशंस कोर्ट ने लेखिका और शोधकर्ता अन्विता बाजपेई की याचिका पर ये आदेश सुनाया.

अन्विता का आरोप है कि चेतन का नॉवेल उनकी किताब 'ऑड्स एंड एंड्स' की एक शॉर्ट स्टोरी से बिलकुल मिलता-जुलता है. अन्विता की ये किताब साल 2014 में छपी थी और चेतन का नॉवेल साल 2016 में छपा था.

बीबीसी से बात करते हुए अन्विता ने कहा, "कोई भी दो कहानियों में इतनी समानता नहीं हो सकती. चेतन भगत की कहानी, उसका सीक्वेंस बिलकुल मेरी कहानी जैसा है."

उधर चेतन भगत ने अन्विता के नोटिस पर जवाब देते हुए इन आरोपों से साफ़ इनकार किया.

उन्होंने अपने फ़ेसबुक पोस्ट पर लिखा, "मेरी कहानियां बिलकुल मौलिक होती हैं. वन इंडियन गर्ल भी बिलकुल ओरिजिनल है. ये सोचना भी कल्पना से परे है कि मैं ऐसा कुछ कर सकता हूं."

इमेज कॉपीरइट Anvita Bajpai FB Page
Image caption लेखिका अन्विता बाजपेई ने चेतन भगत पर चोरी का आरोप लगाया है.

लेकिन बाजपेई की याचिका पर कोर्ट ने पाया कि, "प्रथम द्रष्ट्या बाजपेई के आरोप में दम है और अगर 'वन इंडियन गर्ल' की बिक्री पर अस्थाई रोक नहीं लगाई जाती तो इस तरह की शिकायतों और विवादों का आगे पिटारा खुल सकता है और बाजपेई को ऐसा नुकसान हो सकता है जिसकी आगे भरपाई ना हो सकेगी."

केस की अगली सुनवाई एक जून को होगी.

बाजपेई ने कहा, "मेरी कहानी की मुख्यपात्र एक महिला है जिसके तीन ब्वॉयफ्रेंड होते हैं. आख़िर में उसकी शादी तीसरे ब्वॉयफ्रेंड से होती है और उसके पूर्व ब्वॉयफ्रेंड भी शादी में आते हैं. चेतन के नॉवेल में बस महिला पात्र का नाम आलिया से बदलकर राधिका कर दिया गया है."

वहीं चेतन भगत ने अपने एक और फ़ेसबुक पोस्ट में लिखा कि उनके पब्लिशर की लीगल टीम मामले को देख रही है.

चेतन ने लिखा, "मेरा अपने पाठकों के साथ भरोसे का रिश्ता है. उसके साथ मैं कभी समझौता नहीं कर सकता."

चेतन भगत के उपन्यास 'हाफ़ गर्लफ्रेंड' पर आधारित एक फ़िल्म भी जल्द ही रिलीज़ होगी, जिसमें अर्जुन कपूर और श्रद्धा कपूर की मुख्य भूमिका है.

इससे पहले उनके उपन्यास 'फ़ाइव प्वाइंड समवन' पर 'थ्री इडियट्स' और 'टू स्टेट्स' पर इसी नाम से एक फ़िल्म बन चुकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे