बेंगलूरु: झील को बचाने के लिए लगे कैमरे

  • 26 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट Imran Qureshi

बेंगलूरु की बेलंदूर झील को बदबूदार झाग और विषैले कचरे से बचाने के लिए अब इसके आसपास सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं.

ये कैमरे झील के आसपास कचरे फेंकने और गंदगी फैलाने वालों पर नज़र रखेंगे.

919 एकड़ में फैली बेलंदूर झील हाल ही में तब चर्चा में आ गई थी जब इससे बड़ी मात्रा में झाग निकलने लगा.

हालात तब काबू से बाहर हो गए जब झाग झील से निकलकर सड़कों पर आ गया और इससे ट्रैफ़िक तक जाम होने लगा.

झाग की ऊंडाई दोमंज़िला इमारत तक पहुंच गई.

इमेज कॉपीरइट Imran Qureshi

लेक डेवलपमेंट अथॉरिटी के सीईओ जी विद्यासागर ने बीबीसी से बात करते हुए बताया कि फ़िलहाल झील के आसपास तीन ही सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं और जल्द ही और कैमरे लगेंगे.

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने झील की ख़राब हालत को देखते हुए स्थानीय निकायों को तीन महीने के अंदर झील का बदबूबार झाग और विषैला कचरा हटाने का निर्देश दिया है.

एनजीटी के सख्त रवैये के बाद शहर के तमाम स्थानीय निकाय हरकत में आ गए हैं. बंगलूरु विकास प्राधिकरण झील के एक सिरे से कचरा हटाने का काम शुरू कर चुका है.

प्राधिकरण में इंजीनियर के पद पर कार्यरत वीर सिंह नाइक ने कहा, "हम जल्द ही झील से आ रही बदबू को दूर करने और पानी साफ़ करने के लिए कंपनियों से टेंडर मंगाएंगे. हमें उम्मीद है कि जल्द ही 70 फ़ीसदी तक बदबू दूर हो जाएगी."

झील के किनारों पर विशाल रैंप बनाए जा रहे हैं ताकि झाग को सड़कों पर आने से रोका जा सके. साथ ही झील में कूड़ा करकट ना मिले इसके लिए भी कोशिशें शुरू हो गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)