'पति अगर शराबी निकले तो उसे 'बैट' से सुधारें'

इमेज कॉपीरइट Reuters

मध्य प्रदेश में एक सामूहिक विवाह के दौरान सैकड़ों दुल्हनों को उपहार में लकड़ी का बैट दिया गया. स्थानीय भाषा में 15 इंच लंबे इस बैट को 'मुंगरी' कहा जाता है और इसका इस्तेमाल कपड़े धोने में किया जाता है.

दुल्हनों से कहा गया है कि पति के आक्रामक होने की स्थिति में वो इसे एक हथियार के रूप में इस्तेमाल करें.

गरहाकोटा में क़रीब 700 दुल्हनों को उपहार में दिए गए बैट पर लिखा है, 'शराबियों के सुटारा हेतु भेंट.'

प्रदेश के मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि वो घरेलू उत्पीड़न के मुद्दे को सामने लाना चाहते थे.

उन्होंने महिलाओं से कहा कि मुंगरी का इस्तेमाल करने से पहले वो अपने पतियों को समझाने की कोशिश ज़रूर करें.

इमेज कॉपीरइट Gopal bhargava facebook page

लेकिन अगर पति सुनने से इनकार करता है तो उन्हें इसका इस्तेमाल करना चाहिए.

भार्गव ने अपने फ़ेसबुक पेज पर भी बैट लिए दुल्हनों की तस्वीरें डाली हैं.

समाचार इजेंसी एएफ़पी को उन्होंने बताया कि वो गांवों में शराबी पतियों से पीड़ित महिलाओं की बढ़ती संख्या को लेकर चिंतित थे.

उन्होंने कहा, "महिलाओं ने उन्हें बताया है कि जब भी उनके पति शराब पीते हैं तो हिंसक हो जाते हैं. उनकी बचत वो छीन लेते हैं और शराब पर खर्च कर देते हैं."

हालांकि मंत्री ने कहा कि 'उनका मकसद महिलाओं को हिंसा के लिए उकसाना नहीं है, बल्कि ये बैट हिंसा को रोकने के लिए है.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे