कपिल मिश्रा आप को बदनाम करने के षडयंत्र में शामिल: आशुतोष

  • 8 मई 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images

आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने कहा है कि पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा विरोधियों के उस षडयंत्र में शामिल हो गए हैं जो पार्टी को बदनाम करने में लगा हुआ है.

बीबीसी संवाददाता ज़ुबैर अहमद के साथ बीबीसी हिंदी फ़ेसबुक लाइव में आशुतोष ने कहा, "पिछले कुछ समय से अभियान चलाया जा रहा है कि किसी भी तरह अरविंद केजरीवाल की साख पर बट्टा लगे. ऐसा लगता है कि कपिल मिश्रा ऐसे ही षडयंत्र में शामिल हो गए हैं."

रविवार को कपिल मिश्रा राजघाट पहुंचे थे और वहां मीडिया को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि उन्होंने ख़ुद देखा कि मंत्री सत्येंद्र जैन सीएम केजरीवाल को दो करोड़ रुपए दे रहे हैं.

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत कई नेताओं ने कपिल मिश्रा के आरोपों को बेबुनियाद बताया था.

अमानतुल्लाह निलंबित, कुमार विश्वास राजस्थान के प्रभारी

कुमार विश्वास मेरा छोटा भाई है: अरविंद केजरीवाल

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कपिल मिश्रा के अपने आरोपों से समर्थन में अपना, अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन का लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाने के सवाल पर आशुतोष ने कहा, "हम कभी भी किसी भी जांच से भागने वालों में से नहीं है. लाई डिटेक्टर टेस्ट हो, सीबीआई या फिर कोई और जाँच...हम हर जाँच के लिए तैयार हैं."

आशुतोष ने कपिल मिश्रा से सवाल किया, "वो केजरीवाल पर आरोप तो लगा रहे हैं, लेकिन ये नहीं बता रहे कि वो कब केजरीवाल से मिले थे. वहां मुलाक़ात का टाइमिंग लिखा होता है और भी दूसरे दस्तावेज होते हैं जो ये साबित कर सकें कि ये मुलाक़ात हुई भी थी कि नहीं. कपिल मिश्रा इस मसले पर कुछ क्यों नहीं बोलते."

उन्होंने कपिल मिश्रा के आरोप लगाने की टाइमिंग पर भी सवाल उठाए और कहा कि जब उन्हें मंत्री पद से हटाया गया तब उन्होंने आरोप लगाए.

आशुतोष ने कहा, "पिछले डेढ़-दो महीनों में पानी को लेकर शिकायतें आईं और इसके बाद कपिल मिश्रा से मंत्री पद लेने का फैसला किया गया था."

आप नेता ने भाजपा पर आप को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाया और कहा कि जब से बीजेपी ने दिल्ली विधानसभा का चुनाव हारा है, आप के नेताओं को चुन-चुनकर निशाना बनाया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ये पूछे जाने पर कि अब तक को पार्टी नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप विरोधी लगाते थे, लेकिन इस बार तो अंदर के व्यक्ति ने ही इल्जाम लगाया है, आशुतोष ने पूछा "ये सही है कि कपिल मिश्रा ने आरोप लगाए हैं, लेकिन मैं पूछना चाहता हूँ कि जब पिछले साल सितंबर में उन्होंने खुद एसीबी को पत्र लिखकर पूछा था कि शीला दीक्षित से पूछताछ क्यों नहीं हो रही है तो फिर इन आठ महीनों में ऐसा क्या बदल गया कि उनके आरोपों की दिशा बदल गई."

आशुतोष ने कहा, "जब से दिल्ली में बीजेपी हारी है, तब से आप के 15 विधायकों को गिरफ़्तार किया जा चुका है. लेकिन आरोप किसी पर भी साबित नहीं हुए."

आशुतोष ने माना कि पंजाब विधानसभा और दिल्ली नगर निगम के चुनावों में पार्टी को उम्मीदों के अनुरूप सफलता नहीं मिली, लेकिन उन्होंने कहा, "हमारी ये उपलब्धि क्या कम है कि हमारी वजह से ही बीजेपी को अपने सभी पूर्व पार्षदों को टिकट काटकर नए कैंडिडेट उतारने पड़े."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे