चुनाव आयोग: 'आप की ईवीएम का हमारी ईवीएम से लेना-देना नहीं'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

चुनाव आयोग ने कहा है कि उसकी ईवीएम मशीनों से मिलती जुलती इलेक्ट्रॉनिक मशीन बनाना किसी के लिए भी मुमकिन है लेकिन ऐसी मशीनों का चुनाव आयोग की ईवीएम से कोई लेना देना नहीं है.

आप आदमी पार्टी विधायक सौरभ भारद्वाज ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा में ईवीएम से छेड़छाड़ का लाइव डेमो दिया था, जिसके बाद चुनाव आयोग ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की है.

'दिल्ली विधानसभा में ईवीएम से छेड़छाड़ का लाइव डेमो'

केजरीवाल की कितनी प्राण रक्षा करेगी ईवीएम?

'..बेवकूफ़ों चुनाव आयोग या सुप्रीम कोर्ट जाओ'

नज़रिया: 'आम आदमी पार्टी की हत्या होगी या पार्टी आत्महत्या करेगी?'

चुनाव आयोग ने लिखा है, "ये कॉमन सेंस है कि इन गैजेट्स को एक ख़ास तरीके से काम करने के लिए पहले से ही प्रोग्राम किया जा सकता है. लेकिन इसका मतलब ये नहीं निकाला जाना चाहिए कि ये बातें ईवीएम मशीनों पर भी लागू होती हैं."

इमेज कॉपीरइट Election commission

आयोग के मुताबिक, "हमारी मशीनें तकनीकी रूप से सुरक्षित होती हैं और एक सिक्यूरिटी प्रोटोकॉल की तहत काम करती हैं. लेकिन बाहरी और नकली उपकरणों पर डेमो देकर समझदार नागरिकों का फ़ायदा नहीं उठाया जा सकता. न ही चुनाव आयोग के नाम को बदनाम किया जा सकता है."

चुनाव आयोग ने 12 मई को सभी राजनीतिक पार्टियों की बैठक रखी है जिसमें ईवीएम से जुड़े मुद्दों पर भी बात होगी.

लाइव डेमो

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इससे पहले दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र में आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने एक डेमो टेस्ट के ज़रिए दावा किया कि ईवीएम मशीनों को आसानी से टैंपर किया जा सकता है. हालांकि ये असल में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम मशीन नहीं थी बिल्कुल उसी जैसी मशीन थी.

सौरभ भारद्वाज की मुख्य बातें

  • विधानसभा में 'ईवीएम हैकिंग' का डेमो दिया
  • कहा सीक्रेट कोड से मशीन हैकिंग संभव
  • चुनाव से पहले मशीन मिल जाए तो गुजरत चुनाव में जीतने का दावा

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि सिर्फ़ मदरबोर्ड को बदलने भर से मशीनों में छेड़छाड़ की जा सकती है.

उन्होंने चुनौती देते हुए कहा, "मैं चैलेंज करता हूँ कि हमें गुजरात चुनाव से पहले सिर्फ़ तीन घंटे के लिए ईवीएम मशीनें दे दें, उनको वोट नहीं मिलेगा. कुछ लोग शायद विदेशी ताकतों के हाथों में खेल रहे हैं."

क्या है VVPAT यानी इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन और कागज की पर्ची

ईवीएम विवाद में पुराने आंकड़ों का मायाजाल

इस साल मार्च में बसपा ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से उत्तर प्रदेश के हापुड़ विधानसभा क्षेत्र के आंकड़ों का हवाला देते हुए ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)