कौन हैं पाकिस्तान में कैद कुलभूषण जिनकी फांसी की सज़ा की चर्चा है?

  • 10 मई 2017
कुलभूषण जाधव इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय आईसीजे से कोई चिट्ठी नहीं मिली है.

वहीं भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है, "आईसीजे ने हमें बताया है कि भारत की अर्ज़ी पर क्या कदम उठाया गया है. जहां तक कुलभूषण यादव की बात है कि वो कहाँ हैं, उनका स्वास्थ्य कैसा है इस बारे में दुर्भाग्यवश हमारे पास कोई जानकारी नहीं है. हमने ईरान में अपने राजदूत से गुज़ारिश की है कि वो इस मामले पर रोशनी डालें. हमें उनकी रिपोर्ट का इंतज़ार है."

भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में कुलभूषण को सुनाई गई फांसी की सज़ा को चुनौती दी थी. मंगलवार रात को भारतीय मीडिया में ख़बरें आईं की पूर्व सज़ा पर रोक लगाई गई है.

पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने कथित जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों के कारण कुलभूषण को फांसी की सज़ा सुनाई थी. पाकिस्तान ने उन्हें लगभग एक साल पहले गिरफ़्तार करने का दावा किया था.

इस मामले में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा था कि उन्होंने आईसीजे के प्रेसिडेंट के ऑर्डर के बारे में कुलदीप जाधव की मां को जानकारी दी है.

पाकिस्तान क्या कहता है?

पाकिस्तान के अधिकारियों का कहना है, "किसी भी तरह का पत्र जारी करने से पहले आईसीजे को दूसरे पक्ष की बात भी सुननी होगी."

इस बीच पाकिस्तान सरकार में विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने इस मामले में एक प्रेस कांफ्रेंस की है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा, "पाकिस्तान आईसीजे के अधिकारक्षेत्र के बारे में जांच कर रहा है. इस मामले में विदेश मंत्रालय एक या दो दिन में अपना बयान जारी करेगा."

न्यायालय क्या कहता है?

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय आईसीजे ने बीबीसी को बताया है कि वो कुलभूषण जाधव के बारे में पाकिस्तान को लिखे किसी पत्र के बारे में कोई टिप्पणी नहीं करेगी.

आईसीजे के एक प्रवक्ता ने कहा, "इस तरह के पत्र कोर्ट और संबंधित पक्षों के बीच का मामला है."

कुलभूषण जाधव की फांसी पर ICJ ने लगाई 'रोक'

भारत के कथित जासूस कुलभूषण जाधव को मौत की सज़ा

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के बयान कोर्ट में पेश किए गए भारत के पक्ष पर जानकारी दी गई थी. कोर्ट के मुताबिक भारत का कहना है कि कुलभूषण की सज़ा के बारे में पाकिस्तान ने उसे जानकारी नहीं दी थी.

अदालत ने ये भी कहा कि भारत ने पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय विएना संधि का उल्लघंन करने का आरोप लगाया है और कहा है कि उसके राजनयिकों को जाधव से मिलने नहीं दिया जा रहा.

अदालत में भारत की ये दलाली थी कि पाकिस्तान से ये सुनिश्चित करने को कहा जाए कि कुलभूषण सुधीर जाधव को तब तक फांसी न दी जाए जब तक सभी विकल्पों पर विचार न हो जाए.

'कच्ची गोलियां खेलने वालों ने जासूसी कहानी गढ़ी'

कुलभूषण जाधव की मां ने पाकिस्तान भेजी अर्ज़ी

इमेज कॉपीरइट EPA

कौन हैं कुलभूषण यादव?

  • कुलभूषण जाधव का जन्म 1970 में महाराष्ट्र के सांगली में हुआ था.
  • पाकिस्तान का दावा है कि कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना के अधिकारी हैं और उन्हें पाकिस्तान में जासूसी करते पकड़ा गया था.
  • भारत ने ये तो माना कि कुलभूषण भारतीय नागरिक हैं लेकिन उनके जासूस होने की बात से इनकार किया.
  • समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार कुलभूषण जाधव नेवी के रिटायर्ड अधिकारी हैं और उनका ईरान में कारोबार था.
  • पाकिस्तान के दावे के अगले दिन ही 30 मार्च, 2016 को भारतीय विदेश मंत्रालय का जवाब आया कि कुलभूषण जाधव को प्रताड़ित किया जा रहा है.
  • भारत सरकार ने कहा कि कुलभूषण ईरान से क़ानूनी तरीके से अपना कारोबार चला रहे थे और उनके अपहरण की आशंका जताई है.
  • इस सिलसिले में पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव के कथित इकबालिया बयान का एक वीडियो जारी किया.
  • वीडियो में कुलभूषण को ये कहते हुए बताया गया कि वो 1991 में भारतीय नौसेना में शामिल हुए थे.
  • जारी किए गए वीडियो में कुलभूषण ने कहा कि उन्होंने 1987 में नेशनल डिफेंस अकैडमी ज्वॉइन की थी.
  • छह मिनट के इस वीडियो में कुलभूषण ने ये बताया कि उन्होंने साल 2013 में रॉ के लिए काम करना शुरू किया था.
  • बात यहीं नहीं रुकी. पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी का मुद्दा संयुक्त राष्ट्र में भी उठाया.
  • हाल में एक सैन्य अदालत ने कुलभूषण जाधव को मौत की सज़ा सुनाई जिसका भारत विरोध कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे