तो बीबर के शो में ठगे गए भारतीय दर्शक?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मशहूर कनाडाई पॉप सिंगर जस्टिन बीबर ने जब 10 मई को मुंबई में अपना लाइव परफार्मेंस दिया तो उनके चाहने वालों को लगा कि वाकई वो गा रहे हैं.

लेकिन शो में आए कई लोगों का आरोप है कि वो कार्यक्रम में लिप सिंकिंग कर रहे थे. हालांकि बीबर ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

इमेज कॉपीरइट Ashish shakya

जस्टिन बीबर: थैंक्यू इंडिया, मैं फिर आऊंगा

जस्टिन बीबर ने भारत में म्यूज़िक कॉन्सर्ट से पहले रखी 'डिमांड लिस्ट'

कई लोगों ने सोशल मीडिया पर शिकायत की है कि वो शो में ज़्यादातर वक़्त लिपसिंकिंग करते रहे.

लिपसिंक मतलब, रिकॉर्डेड गाने बज रहे थे और बीबर बोल के हिसाब से केवल अपने होंठ हिला रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Marlon moraes

क्यों करते हैं लिपसिंक

भारत आने से पहले उनकी डिमांड लिस्ट में कई चीज़ें थीं, जिस वजह से पहले से ही काफी उथल-पुथल मची हुई थी.

सोशल मीडिया पर लोगों ने इस लिस्ट की भी खूब खिंचाई की.

वैसे लिपसिंक करना कोई नई बात नहीं है और बहुत से कलाकार लाइव परफॉरमेंस के दौरान लिप सिंकिंग करते हैं.

जस्टिन बीबर के 5 'बवाल'

असल में कभी-कभार कोई ट्रैक लाइव गाने बहुत ही मुश्किल होते हैं. कई कलाकार इनमें डांस भी करते हैं, ऐसे में पूरे परफॉरमेंस तक एनर्जी बचाने के लिए वे पहले से रिकॉर्ड गानों पर परफॉर्म करते हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कभी-कभी ऐसा भी होता है कि माइक्रोफ़ोन ऑन रहता है और जब कलाकार गाने के किसी हिस्से में कॉन्फिडेंट न हो तो पीछे से ट्रैक बजता रहता है और कलाकार धीमी आवाज़ में गाता रहता है.

जस्टिन बीबर: क्या ख़ास है कि ईएमआई पर भी बिकीं टिकटें

इमेज कॉपीरइट Newenglandra

कई बार ऐसा होता है कि मौसम ख़राब हो या कलाकार की तबीयत बिगड़ जाए या फिर कोई तकनीकी ख़राबी आ जाए तो लिपसिंक करना पड़ता है.

कई ऐसे भी कलाकार होते हैं जो लिपसिंकिंग का बेहद कम या बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं करते.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे