बिहार में बीजेपी और आरजेडी के कार्यकर्ता भिड़े

  • 17 मई 2017
बिहार इमेज कॉपीरइट Niraj Sahai

पटना में राष्ट्रीय जनता दल और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई है.

बीजेपी ने आरजेडी के ख़िलाफ़ पार्टी कार्यालय पर हमला करने का आरोप लगाया तो आरजेडी ने पार्टी के शांति मार्च के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के द्वारा मारपीट का इल्ज़ाम लगाया है. दोनों पार्टियों ने एक दूसरे पर थाने में मामला दर्ज कराया है.

नज़रिया: आखिर लालू और नीतीश के बीच चल क्या रहा है?

राजद प्रमुख लालू प्रसाद और उनके परिवार से जुड़े दिल्ली जैसे शहरों के 22 ठिकानों पर मंगलवार को आयकर विभाग के छापे पड़े थे. इसके 24 घंटे बाद ही पटना में उसकी राजनीतिक प्रतिक्रिया भाजपा कार्यालय के सामने दिखाई पड़ी.

नज़रिया: लालू की मुश्किल से नीतीश की चांदी?

इमेज कॉपीरइट Niraj Sahai

भाजपा मीडिया सेल के प्रभारी राकेश कुमार सिंह ने कहा कि राजद कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कार्यालय पर हिंसक हमला किया. इससे पार्टी के कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए.

बिना दूध देने वाली गायों को भाजपा नेताओं के द्वार बांधो: लालू

बीजेपी के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि पार्टी की ओर से कोतवाली थाने में एफ़आईआर दर्ज करा दी गई है. दल का प्रतिनिधिमंडल डीजीपी से मिला है. वहीं जिला प्रशासन ने दावा किया की फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है.

दोनों ही दलों की ओर से पुलिस में एफ़आईआर दर्ज कराई गई है. उधर आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा का आरोप था कि बीते दिनों बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के लगातार आ रहे बयान के विरोध में युवा राजद के कार्यकर्ताओं ने शांति मार्च निकला था. इसी दौरान भाजपा वालों ने उन पर हमला कर दिया.

इमेज कॉपीरइट Niraj Sahai

उन्होंने कहा कि पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लालू परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के जो आरोप लगाए वह भाजपा और राजद के बीच टकराव का मुद्दा बन गया है. ग़ौरतलब है कि इस मामले में फ़िलहाल कोई गिरफ़्तारी नहीं की गई है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस पूरे मामले में ख़ुद को तटस्थ दिखाने की कोशिश की है. ज़ाहिर है सुशील मोदी के आरोप, आयकर के छापे और राजद- भाजपा के बीच टकराव से राज्य का सियासी तापमान बढ़ता जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे