'कनपटी पर बंदूक तानी और औरतों से रेप किया'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
'बंदूक के दम पर हमारी औरतों से बदतमीजी की'

दिल्ली से सटे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जेवर थाना क्षेत्र के साबौता गांव के पास हथियारबंद बदमाशों ने कार से जा रहे एक परिवार की चार महिला सदस्यों के साथ कथित रूप से गैंग रेप किया.

गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी लव कुमार के मुताबिक बुधवार की रात कार से जा रहे परिवार की गाड़ी को बदमाशों ने जबरन रोका और लूटपाट की.

पीड़ितों का कहना है कि लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने परिवार के मुखिया की गोली मार कर हत्या कर दी जबकि परिवार की चार महिला सदस्यों के साथ कथित रूप से बलात्कार किया.

घटना में मारे गए व्यक्ति की पत्नी ने बताया कि वो लोग बहुत डर गए थे.

बीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा, "वो तो मेरे तीन साल के बेटे पर बंदूक तान रहे थे, मैंने गिड़गिड़ाकर कहा कि मुझे मार दें पर उसे छोड़ दें, फिर उन्होंने एक- एक कर सारी औरतों के साथ ज़्यादती की."

उन्होंने बताया कि वो लोग मदद तक नहीं मांग सके क्योंकि हमलावरों ने उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था.

पीड़ित परिवार के एक अन्य सदस्य ने बीबीसी से बताया, ''हम जेवर से बुलंदशहर जा रहे थे. बुलंदशहर में फूफी का बच्चा होने वाला था और वे ऑपरेशन के लिए पैसे लेकर जा रहे थे. उसी रात क़रीब एक बजे पांच लोगों ने इस परिवार पर हमला किया. हमलावर बिल्कुल अनजान थे.''

"नेशनल हाइवे से उतरकर ये दो किलोमीटर दूर छोटी सड़क पर आ गए थे. यहां बिल्कुल अंधेरा था. चारों तरफ़ सन्नाटा पसरा था. कोई दूसरी गाड़ी नहीं थी और न ही गश्त लगाती पुलिस."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने बताया, "हमलावरों के पास देसी कट्टे थे. उन्होंने सबको चुप कराने के लिए कनपटी पर कट्टे तान रखे थे. जब सभी औरतों के साथ रेप किया जाने लगा और चाचा ने रोकने की कोशिश की, तभी हमवावरों ने उनके सीने में गोली मार दी."

आरोप है कि पुलिस ने आने में बहुत देर लगा दी वर्ना उनके चाचा की जान बच सकती थी. मारे गए व्यक्ति की उम्र करीब 40 साल है और उनके सात बच्चे हैं.

बुलंदशहर गैंगरेप: तीन अभियुक्त गिरफ़्तार

बुलंदशहर गैंगरेप: सीबीआई जांच का आदेश

घटना की सूचना पाकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचे. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

बुलंदशहर जा रहा था परिवार

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लव कुमार ने बीबीसी को बताया कि मारा गया व्यक्ति जेवर का रहने वाला था.

उसका एक रिश्तेदार बुलंदशहर के एक अस्पताल में भर्ती था. तबीयत बिगड़ने पर ये लोग मंगलवार की रात करीब दो बजे कार में सवार होकर जेवर से बुलंदशहर के लिए रवाना हुए थे.

जब ये लोग साबौता गांव के पास पहुंचे तो आधा दर्जन बदमाशों ने टायर में गोली मार कर कार रोक ली.

लव कुमार ने बताया कि जैसे ही गाड़ी रुकी, बदमाशों ने पूरे परिवार को हथियारों के बल पर बंधक बना लिया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बदमाशों ने उनके साथ लूटपाट शुरू कर दी. परिवार ने जब लूटपाट का विरोध किया तो बदमाशों ने परिवार के मुखिया को गोली मार दी जिससे उनकी मौत हो गई.

एसएसपी लव कुमार ने कहा, ''पुलिस ने गैंगरेप की शिकायत पर एफ़आईआर दर्ज कर ली है और महिलाओं की मेडिकल जांच की जा रही है.''

उन्होंने ये भी कहा कि पुलिस इस मामले को काफ़ी गंभीरता से ले रही है और अभियुक्तों की तलाश की जा रही है.

पुलिस ने आश्वस्त किया कि अपराध को अंजाम देनेवालों को जल्दी ही पकड़ लिया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे