सहारनपुर में मोबाइल इंटरनेट बैन

इमेज कॉपीरइट PA

सहारनपुर में जातीय हिंसा के कारण जारी तनाव को देखते हुए प्रशासन ने सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगा दिया है.

मंगलवार को बसपा मुखिया मायावती के दौरे के बाद फिर से भड़की हिंसा में एक दलित युवक की मौत हो गई थी जबकि दो अन्य लोग घायल हुए थे.

इसके बाद बीते बुधवार को योगी प्रशासन ने सहारनपुर के एसएसपी और डीएम को निलंबित कर दिया था.

भारत में क्यों बढ़ रही है इंटरनेट पर पाबंदी

कश्मीर: सोशल मीडिया साइटों पर लगी पाबंदी

कार्यभार संभालने वाले नए डीएम एनपी सिंह ने एक आदेश जारी करते हुए कहा है, "कई दिनों से घट रही घटनाओं एवं वर्तमान हालात को देखते हुए मैसेजिंग और सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाए जाने का निर्णय लिया गया है."

आदेश में कहा गया है कि 'अफवाहों और भ्रामक सूचनाओं को फैलाने में असमाजिक तत्व सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहे हैं. इस प्रतिबंध के दायरे में प्रशासनिक और पुलिसकर्मी नहीं आएंगे.'

पांच मई को सहारनपुर के पास शब्बीरपुर गांव में ठाकुर समुदाय के लोगों ने दलितों के 25 घर जला दिए थे. इस दौरान पत्थरबाज़ी में ठाकुर समुदाय के एक व्यक्ति की मौत हो गई थी, हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण 'दम घुटना' बताया गया था.

इसके बाद नौ मई को भीम आर्मी द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन में सहारनपुर में भारी पैमाने पर उपद्रव और आगजनी की घटनाएं हुई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)