दूल्हे का 'अपहरण' कर हो रही थी शादी, दुल्हन गिरफ्तार

अपहरण कर शादी इमेज कॉपीरइट Divakar Singh

बिहार के मुज़फ्फ़रपुर ज़िले में कथित तौर पर लड़के का अपहरण कर जबरन शादी कराने का एक मामला सामने आया है जिसमें पुलिस ने दुल्हन को गिरफ्तार कर लिया है.

गुरुवार की रात मुज़फ्फरपुर के मैठी गांव के कुनकुन सिंह के बेटे अभिनव की शादी गायघाट गांव के पछियारी टोला के नंदकिशोर सिंह की बेटी जूली सिंह से हो रही थी.

इस बीच लड़के के अपहरण की सूचना पर पुलिस ने वहां छापेमारी की. मिली जानकारी के मुताबिक़ छापेमारी के दौरान कथित तौर पर लड़की वालों और ग्रामीणों के साथ पुलिस की झड़प भी हुई.

इमेज कॉपीरइट Divakar Singh

पुलिस ने दुल्हन जूली, उनकी बहन समेत लड़की पक्ष के चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. जूली फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं और मुज़फ्फ़रपुर के सदर अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है.

बीबीसी से बातचीत में जूली ने माना कि शादी के समय दूल्हे के घरवालों में से कोई भी वहां मौजूद नहीं था. हालांकि उन्होंने इस बात से इंकार किया कि दूल्हे का अपहरण कर शादी कराई जा रही थी.

उन्होंने कहा, "लड़का ख़ुद अपनी मर्जी से शादी करने आया था. वह शादी के बाद अपने घरवालों को इसके बारे में बताता."

जूली का आरोप है "25 तारीख की रात पुलिस ने हमारी कोई बात नहीं सुनी और बेरहमी से पिटाई की."

इमेज कॉपीरइट Divakar Singh

जूली के मुताबिक उनकी शादी होने के आधे घंटे के बाद पुलिस पहुंची थी और कार्रवाई के वक्त उनके साथ महिला पुलिसकर्मी भी नहीं थी.

गुरुवार से ही यह यह घटना स्थानीय मीडिया में लगातार चर्चा में है.

घटना के संबंध में मुज़फ्फ़रपुर के सीनियर एसपी विवेक कुमार कहते हैं, ''पुलिस जांच में लड़के का जबरन अपहरण कर शादी करवाने की बात सही पाई गई है.''

उन्होंने कहा कि पुलिस कार्रवाई के दौरान नियंत्रित तरीके से बल प्रयोग नहीं करने के आरोप में गायघाट के थानाध्यक्ष को भी निलंबित कर दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट Divakar Singh

इस मामले में दूल्हे या उनके परिवार के किसी सदस्य से बात नहीं हो सकी है.

बिहार में हर साल शादी के लिए लड़कों के अपहरण के सैकड़ों मामले सामने आते हैं.

बिहार पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक़ 2016 में ऐसे तीन हज़ार से ज्यादा मामले सामने आए थे और इस साल मार्च तक ऐसे 830 मामले दर्ज किए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे