'थरूर टेप्स' पर अर्णब गोस्वामी को हाई कोर्ट का नोटिस

  • 29 मई 2017
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अर्णब गोस्वामी

सांसद शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के बारे में न्यूज़ चैनल रिपब्लिक ने हाल में एक कार्यक्रम प्रसारित किया था.

शशि थरूर ने इस कार्यक्रम पर आपत्ति जताई थी और एक याचिका दायर की थी जिस पर चैनल और एंकर अर्णब गोस्वामी को दिल्ली हाई कोर्ट ने नोटिस भेजा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अदालत ने नोटिस जारी करते हुए, 16 अगस्त तक अर्णब गोस्वामी से जवाब मांगा है.

कांग्रेस नेता शशि थरूर की अर्ज़ी पर सुनवाई करते हुए जस्टिस मनमोहन ने कहा, 'भाषणबाज़ी कम कीजिए. आप स्टोरी कर सकते हैं, तथ्य सामने रख सकते हैं. आप नाम नहीं ले सकते. ये ग़ैर-ज़रूरी है.'

अर्णब ने अपने शो में शशि थरूर के कथित टेप्स चलाते हुए इस घटना में शशि थरूर की भूमिका पर सवाल उठाए थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पत्नी की अर्थी ले जाते शशि थरूर

खुर्शीद ने की थरूर की पैरवी

थरूर ने मानहानि का केस करके दो करोड़ का मुआवज़ा मांगा था. उन्होंने इसे 'झूठे आरोपों का अभियान' बताया था.

थरूर की तरफ़ से पूर्व विदेश मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान ख़ुर्शीद कोर्ट में पैरवी कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि चैनल और पत्रकार को उनके ख़िलाफ़ दिए बयानों पर सफ़ाई देनी चाहिए.

पढ़ें: कौन थीं सुनंदा पुष्कर?

गोस्वामी की तरफ़ से कोर्ट में पैरवी कर रहे वकील संदीप सेठी ने कहा कि वह अपने हर बयान को जायज़ ठहरा सकते हैं, इसलिए किसी अंतरिम निषेधाज्ञा की ज़रूरत नहीं है.

रिपब्लिक ने ट्वीट करके थरूर को नाकाम बताया है. अर्णब की तस्वीर के साथ रिपब्लिक के ट्विटर हैंडल से लिखा गया, 'थरूर ने मेरा और मेरी टीम का मुंह बंद करने की कोशिश की. वह नाकाम रहे. हम सुनंदा पुष्कर केस में सच के लिए लड़ते रहेंगे.'

पढ़ें: मैं मनोरोगी के साथ रहा हूं, दर्द जानता हूं: शशि थरूर

पढ़ें: अर्णब गोस्वामी पर क्यों बरस पड़ीं बरखा दत्त?

इमेज कॉपीरइट Kuldeep Mishra

अर्णब पर लगे हैं और भी आरोप

थरूर ने 8 से 13 मई के बीच सुनंदा मामले पर चैनल के प्रसारण पर आपत्ति जताते हुए कोर्ट में अर्ज़ी दी थी.

उन्होंने कहा था, 'इससे उनका अपमान हुआ और लोगों की नज़रों में प्रतिष्ठा को भारी नुकसान हुआ है. उन्हें बिना आधार के अपनी दिवंगत पत्नी का कथित हत्यारा बताया जा रहा है.'

इससे पहले 'टाइम्स नाऊ' के मालिकाना हक़ वाली कंपनी बेनेट कोलमैन एंड कंपनी लिमिटेड ने आरोप लगाया था कि उनके पूर्व कर्मचारी अर्णब गोस्वामी ने कंपनी से कई फोन रिकॉर्डिंग चुराईं और उन्हें बहुचर्चित लालू यादव और शशि थरूर की स्टोरीज़ में इस्तेमाल किया.

कंपनी ने अर्णब के ख़िलाफ़ मामला भी दर्ज कराया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे