प्रेस रिव्यू: जस्टिस करनन की 'ऐतिहासिक गिरफ़्तारी' के लिए पुलिस के पास 5 दिन और

  • 8 जून 2017
इमेज कॉपीरइट Alamy
Image caption जस्टिस करनन

हिंदुस्तान टाइम्स ने ख़बर दी है कि गिरफ़्तारी के आदेश के करीब एक महीने बाद भी पुलिस कोलकाता हाई कोर्ट के जज जस्टिस करनन का पता नहीं लगा पाई है. अखबार ने लिखा है कि फ़रार होने के बाद से वह चेन्नई में छिपे बताए जा रहे हैं.

अगर पुलिस उन्हें आने वाले पांच दिनों में गिरफ़्तार कर लेती है तो वह पद पर रहते हुए गिरफ्तार होने वाले पहले हाईकोर्ट जज होंगे. जस्टिस कर्णन 12 जून को रिटायर हो रहे हैं. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट पर उनके दलित होने की वजह से परेशान करने का आरोप लगाया है. शीर्ष कोर्ट ने 9 मई को उन्हें 6 महीने जेल की सज़ा दी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल

दैनिक जागरण ने ख़बर दी है कि ब्याज़ दर घटाने को लेकर केंद्र सरकार और आरबीआई के बीच तनातनी अब सार्वजनिक हो गई है.

वार्षिक मौद्रिक नीति की समीक्षा करते हुए आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने साफ कर दिया था कि वह ब्याज दरों में कटौती का समर्थन नहीं करेंगे. फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि मौद्रिक नीति समिति सरकार के नियंत्रण से पूरी तरह आज़ाद है.

अब इस समिति के फ़ैसले पर वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम ने तल्ख़ प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, 'मौद्रिक नीति को नरम बनाने (ब्याज दरें घटाने) का जैसा अभी माहौल है, वैसा कभी कभार ही होता है.'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

गुड़गांव में 19 साल की एक महिला से बलात्कार और उनकी 8 महीने की बच्ची की हत्या के मामले में दो आरोपियों को गिरफ़्तार किया है और एक अन्य की तलाश जारी है. 'टाइम्स ऑफ इंडिया' ने यह ख़बर दी है.

महिला के साथ 29 मई की रात में कथित बलात्कार हुआ और 30 मई की सुबह उन्हें अपनी मृत बच्ची की लाश के सथ दिल्ली मेट्रो में सफर करना पड़ा. पुलिस का कहना है कि महिला को शेयर्ड ऑटो में नहीं मैजिक वैन में किडनैप किया गया था. तीनों आरोपियों ने कथित तौर पर महिला को खेड़की दौला टोल प्लाज़ा के पास लिफ्ट देने के बहाने वैन में बैठाया था.

इमेज कॉपीरइट Facebok/@abuazmisp
Image caption सपा नेता अबू आज़मी

अमर उजाला ने खबर दी है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 40 करोड़ की ड्रग्स तस्करी में जिन चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है, उनमें सपा नेता अबू आजमी के भतीजे असलम भी शामिल हैं. दिल्ली पुलिस के इतिहास में यह अब तक पकड़ी गई सबसे बड़ी खेप है. आरोप है कि गिरोह का सरगना कैलाश राजपूत दुबई से यह गैंग चला रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे