यूपी बोर्ड के रिज़ल्ट से क्यों चर्चा में है फ़तेहपुर ज़िला

इमेज कॉपीरइट SAMIRATMAJ MISHRA
Image caption प्रियांशी तिवारी
  • उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के टॉपर फ़तेहपुर से
  • इंटरमीडिएट के 14 टॉपर्स में से आधे इसी ज़िले से
  • पाँच तक की रैंकिंग में चार छात्राएं एक ही स्कूल के एक ही सेक्शन की

शुक्रवार को आए यूपी बोर्ड परीक्षा परिणाम के बाद उत्तर प्रदेश का छोटा सा ज़िला फ़तेहपुर अचानक चर्चा में आ गया. हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में न सिर्फ़ इसी ज़िले की छात्राओं ने पहला स्थान प्राप्त किया बल्कि टॉपरों की सूची में यहां के ढेरों छात्र-छात्राओं ने अपने नाम दर्ज कराए.

इंटरमीडिएट की परीक्षा में सरस्वती बाल मंदिर इंटर मीडिएट कॉलेज की छात्रा प्रियांशी तिवारी ने जहां राज्य भर में पहला स्थान प्राप्त किया, वहीं टॉप 14 में सात छात्र इसी ज़िले से हैं.

यही नहीं, इन चौदह में से चार छात्राएं तो एक ही स्कूल यानी सरस्वती बाल मंदिर इंटरमीडिएट कॉलेज की हैं.

इस कॉलेज की प्रियांशी तिवारी पहले नंबर पर रहीं तो दूसरा स्थान इसी कॉलेज की सोनम सिंह का है जबकि चौथे नंबर पर दर्श‍िका सिंह आई हैं तो पांचवें नंबर पर इसी कॉलेज की आकांक्षा हैं.

बिना ट्यूशन, किसान का बेटा यूपी में अव्वल..

'मैं ग़रीबी हूँ, मैं तुम्हें प्यार करती हूँ'

टॉपर्स एक ही सेक्शन की

प्रियांशी तिवारी ने बीबीसी से बातचीत में बताया कि वो चारों ही न सिर्फ़ एक ही कॉलेज की हैं बल्कि एक ही सेक्शन की हैं और एक ही जगह उन्होंने परीक्षा भी दी थी.

वहीं हाई स्कूल की परीक्षा में भी फ़तेहपुर के एसजीएम इंटर कॉलेज की छात्रा तेजस्वी सिंह ने टॉप किया है. बताया जा रहा है कि दोनों ही परीक्षाओं में राज्य भर में टॉप पचास लोगों में आधे से ज़्यादा इसी ज़िले के छात्र हैं.

इमेज कॉपीरइट SAMIRATMAJ MISHRA

फ़तेहपुर के ज़िला विद्यालय निरीक्षक नंदलाल ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि टॉपर्स की सूची तो अब जारी नहीं होती है लेकिन परिणाम की घोषणा के समय ही शिक्षा निदेशक सबसे ज़्यादा नंबर पाने वाले छात्रों के नामों की घोषणा कर देते हैं.

चर्चा में फ़तेहपुर ज़िला

ज़िला विद्यालय निरीक्षक नंदलाल का कहना था, "वास्तव में कितने छात्र-छात्राएं टॉपर सूची में हैं इसकी जानकारी तो अभी नहीं है लेकिन हाईस्कूल और इंटर दोनों के टॉपर फ़तेहपुर से ही हैं, ये सही है."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उनका कहना था कि सही जानकारी आने में अभी दो-एक दिन लगेंगे लेकिन अख़बारों में छात्रों के अंक के हिसाब से जानकारी मिल रही है तो वो ग़लत नहीं होनी चाहिए.

ज़िला विद्यालय निरीक्षक का कहना था कि इससे पहले टॉपर यहां से नहीं रहे हैं लेकिन मेरिट सूची में फ़तेहपुर के विद्यार्थी आते रहे हैं.

जिस विद्यालय से इंटर के सात छात्र मेरिट सूची में हैं, उसके बारे में नंदलाल कहते हैं, "इस विद्यालय की छवि काफी अच्छी है. प्राइवेट कॉलेज होने के बावजूद यहां शिक्षा की गुणवत्ता काफी अच्छी है और कभी कोई शिकायत भी नहीं मिली है."

इमेज कॉपीरइट SAMIRATMAJ MISHRA

वहीं इंटर की परीक्षा में पहला स्थान पाने वाली प्रियांशी तिवारी ने बीबीसी को बताया कि उसके स्कूल में पढ़ाई का माहौल काफी अच्छा है और कई छात्रों ने अच्छे अंक लाए हैं. प्रियांशी का कहना था कि ये कोई संयोग नहीं है बल्कि छात्रों की मेहनत और उनकी मेधा की वजह से ऐसा हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे