प्रेस रिव्यू- भारत का क्रिकेट कोच चुनने के लिए मांगे पैसे

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण ने राष्ट्रीय कोच चुनने के लिए उचित भुगतान की मांग की है. ख़बर के मुताबिक ये तीनों इन दिनों इंग्लैंड में हैं और गुरुवार को ओवल में श्रीलंका और भारत के बीच चैंपियंस ट्रॉफी मुक़ाबले के बाद इन तीनों की बैठक की.

तीनों ने बैठक के बाद बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी को बताया कि वे नहीं चाहते कि समिति में उनकी भूमिका अवैतनिक हो.

पिछले दिनों ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति के सदस्य रामचंद्र गुहा ने इस्तीफ़ा दे दिया था. उन्होंने गांगुली, राहुल द्रविड़ समेत कई और खिलाड़ियों पर हितों के टकराव के साथ काम करने का आरोप लगाया था.

इमेज कॉपीरइट PTI

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ केंद्र सरकार ने दलित शोधार्थी रोहित वेमुला पर बनी 45 मिनट की डॉक्यूमेंट्री समेत तीन लघु फिल्मों को 16 जून से केरल में शुरू हो रहे अंतरराष्ट्रीय वृत्तचित्र और लघु फिल्म महोत्सव में दिखाए जाने की मंजूरी देने से इनकार कर दिया है.

आयोजकों ने कहा कि कथित तौर पर आत्महत्या करने वाले दलित शोधार्थी रोहित वेमुला के बारे में डॉक्यूमेंट्री 'द अनबियरएबल बीइंग ऑफ़ लाइटनेस', युवा कश्मीरी कलाकारों एवं छात्रों के एक समूह की जिंदगियों के बारे में 'इन द शेड ऑफ फॉलेन चिनार', जेएनयू विरोध प्रदर्शन पर बनी 'मार्च मार्च मार्च' को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने महोत्सव में दिखाने की अनुमति नहीं दी.

मंजूरी ना दिए जाने पर गुस्सा जताते हुए केरल चलचित्र अकादमी अध्यक्ष और महोत्सव के निदेशक कमल ने कहा कि देश में सांस्कृतिक आपातकाल लगा हुआ है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक़ हैदराबाद हाई कोर्ट के एक जज ने शुक्रवार को गाय को लेकर बड़ी टिप्पणी की है. जस्टिस बी शिवा शंकर राव ने कहा कि गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा मिलना ही चाहिए. साथ ही उन्होंने गाय को पवित्र राष्ट्रीय धरोहर बताते हुए यह भी कहा कि गाय मां और भगवान की जगह पर है. कुछ दिन पहले ही राजस्थान हाई कोर्ट ने भी गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा देने की बात कही थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे