सेना प्रमुख पर संदीप दीक्षित ने ग़लत बोला: राहुल गांधी

  • 12 जून 2017
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सेना प्रमुख बिपिन रावत पर संदीप दीक्षित की टिप्पणी को ग़लत बताया है.

उन्होंने कहा कि सेना प्रमुख देश का होता है और संदीप दीक्षित का 'हमला' ग़लत है. उन्होंने कहा कि सेना और सेना प्रमुख पर नेताओं को टिप्पणी नहीं करनी चाहिए.

रविवार को संदीप दीक्षित ने कहा था, ''पाकिस्तान उलजुलूल हरकतें और बयानबाजी करता है. ख़राब तब लगता है कि जब हमारे थल सेनाध्यक्ष सड़क के गुंडे की तरह बयान देते हैं. पाकिस्तान ऐसा करता है तो इसमें कोई हैरान करने वाली बात नहीं है.''

राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि सेना देश की रक्षा करती है और उस पर किसी भी राजनीतिक दल को टिप्पणी नहीं करनी चाहिए.

संदीप दीक्षित ने माफ़ी मांगी थी

कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि उन्होंने संदीप दीक्षित को सेना प्रमुख पर इस तरह की बयानबाजी नहीं करने की सलाह दी है.

संदीप दीक्षित ने आर्मी चीफ़ को 'सड़क का गुंडा' कहा, मांगी माफ़ी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस ऐसे बयानों का समर्थन नहीं करेगी.

रविवार को कांग्रेस प्रवक्ता संदीप दीक्षित ने भारत के आर्मी चीफ़ जनरल बिपिन रावत पर बेमतलब की बयानबाजी करने का आरोप लगाया था. हालांकि उन्होंने तत्काल इसके लिए माफ़ी मांग ली थी.

संदीप दीक्षित दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बेटे हैं.

कांग्रेस की हिम्मत कैसे हुई- रिजिजू

इमेज कॉपीरइट Getty Images

संदीप के इस बयान लेकर बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी. बीजेपी ने दीक्षित के बयान के सहारे राहुल पर भी हमला बोला था.

दीक्षित के इस बयान पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किेरण रिजिजू ने कड़ा ऐतराज जताते हुए ट्वीट किया - ''कांग्रेस पार्टी के साथ समस्या क्या है? उसने भारतीय आर्मी चीफ़ को सड़क का गुंडा कहने की हिम्मत कैसे की?''

बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कांग्रेस प्रवक्ता संदीप दीक्षित के इस बयान की कड़ी निंदा की थी.

उन्होंने ट्वीट कर कहा था, ''संदीप दीक्षित कांग्रेस के आधिकारिक प्रवक्ता हैं. कांग्रेस भारतीय सेना का लगातार अपमान कर रही है. क्या वह पाकिस्तान और आईएसआई का पक्ष ले रही है?''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे