डांस, ड्रिंक्स और मस्ती- ये है नए ज़माने की भारतीय दुल्हनों का अंदाज़

अमीषा भारद्वाज इमेज कॉपीरइट COOLBLUEZ

शादी के दौरान दूल्हों की ही मौज क्यों हो? यही सवाल पूछ रही हैं अमीषा भारद्वाज.

अमीषा भारद्वाज ने अपनी शादी के दौरान मौज-मस्ती का वीडियो बनाया है और वो वीडियो वायरल हो गया है. यूट्यूब पर इसे 60 लाख से ज़्यादा लोग देख चुके हैं.

इस वीडियो में अमीषा निकर और दुल्हन वाली ब्लाउज में डांस करती नज़र आ रही हैं और 'चिप थ्रिल्स' के गाने को गुनगुनाती भी दिख रही हैं.

हालांकि ख़ुद अमीषा को यक़ीन नहीं हो रहा है कि उनका वीडियो वायरल हो गया. उन्होंने बताया, "वीडियो के वायरल होने पर मुझे हैरानी हो रही है क्योंकि इसमें तो केवल इतना ही था कि अपनी शादी के दिन दुल्हन मौज मस्ती कर रही है. मतलब ये अनोखा भी नहीं था."

लेकिन यूट्यूब पर अमीषा के वीडियो पर ढेरों लोग कॉमेंट्स कर रहे हैं, ख़ासकर उनके कपड़ों की पसंद और गाने के बोल पर.

बदल रहा है चलन

अमीषा बताती हैं, "मुझे लगता है कि मेरा वीडियो उस परंपरागत सोच से अलग है जिसमें भारतीय दुल्हनों को शर्म और हया की मूरत माना जाता है, वो डांस नहीं कर सकती हैं. जिस तरह के कपड़े मैंने पहने हैं, वैसे कपड़े नहीं पहन सकतीं."

इमेज कॉपीरइट COOLBLUEZ

अमीषा के मुताबिक, "भारतीय दुल्हन को लेकर ये सोच सदियों से चली आ रही है, दुल्हन हंसे नहीं और जब विदा हो तो रोए. लेकिन आज की दुल्हन अपनी कहानी गढ़ रही है."

भारत में शादी का वीडियो बनाने का चलन बहुत नया नहीं है, ये काफ़ी श्रम साध्य और थकाऊ प्रक्रिया होती है. वीडियोग्राफ़र शादी के तमाम रीति रिवाज़ों को शूट करते हैं.

लेकिन अब बॉलीवुड के गानों से प्रेरित और डांस वाले वीडियो बनाए जाने का चलन देखा जा रहा है और इसमें दुल्हनों की भूमिका लगातार दमदार हो रही है.

अमीषा कहती हैं, "मैंने कुछ अलग सोच कर वीडियो नहीं बनाया. मैं जो करना चाहती हूं वही करूं, इतना आत्मविश्वास मुझमें रहा है. आधुनिक भारत की युवा महिलाएं ऐसी ही हैं. वो डांस कर सकती हैं, ड्रिंक्स ले सकती हैं. समय बदल रहा है. इसलिए दुल्हनें भी बदल रही हैं."

भारतीय संस्कृति पर सवाल

अमीषा के वीडियो पर जितने कॉमेंट्स आ रहे हैं, उसे देखते हुए लगता है कि लोग भी इस बदलाव को स्वीकार कर रहे हैं. ढेरों कॉमेंट्स तारीफ़ वाले हैं वहीं कुछ ऐसे भी हैं जिसमें उन्हें भारतीय संस्कृति को ख़राब करने का आरोप लगाया जा रहा है.

अमीषा कहती हैं, "मैं ट्रोल करने वालों पर ध्यान नहीं देती क्योंकि इंटरनेट पर बहुत लोग हैं जो मेरे पक्ष में हैं."

इमेज कॉपीरइट COOLBLUEZ
Image caption शादी का वीडियो बनाने वाले सुप्रीत कौर और पवन सिंह

शादी वाले वीडियो बनाने वाले सुप्रीत कौर और पवन सिंह भी मानते हैं कि भारतीय दुल्हनें अब बदल रही हैं. पवन सिंह कहते हैं, "10 साल पहले जब हमने शादी के वीडियो बनाने शुरू किए थे तब दुल्हनें ख़ूबसूरत और पतली दिखना चाहती , लेकिन अब वे प्रयोग कर रही हैं."

सुप्रीत कौर कहती हैं, "दुल्हनें अब ये मान रही हैं कि शादी उनके जीवन का सबसे अहम इवेंट है. लिहाज़ा वे जैसी हैं वैसी बनी रहना चाहती हैं."

पवन सिंह के मुताबिक बीते 10 सालों में भारत काफ़ी बदला है, ज़्यादा से ज़्यादा महिलाएं अब कामकाजी हो रही हैं.

पवन कहते हैं, "अमीषा अकेली नहीं हैं, आपको ऐसे तमाम वीडियो मिल जाएंगे."

इमेज कॉपीरइट COOLBLUEZ

ऐसी एक दुल्हन ईशिता गिरधर भी हैं जो शादी के बाद भी अपने माता-पिता के घर मे रहती हैं. गिरधर के मुताबिक बॉलीवुड की फ़िल्में और टीवी धारावाहिक के चलते लोगों की सोच परंपरागत होती है.

वो कहती हैं, "फ़िल्मों में दुल्हन को शर्मिली दिखाया जाता है, इसलिए लोगों को लगता है कि दुल्हन ऐसी ही होनी चाहिए."

मानामिता कुमार ने भी शादी के दौरान पति के साथ डांस करते हुए अपना वीडियो तैयार किया था. मानामिता कहती हैं, "अगर आप संकोची हैं तो संकोची बने रहिए. किसी परंपरागत सोच के चलते ऐसा मत कीजिए."

छोटे शहरों का संकट

लेकिन हर दुल्हन को ऐसा करने का मौका नहीं मिलता. सुप्रीत कौर कहती हैं कि छोटे शहरों और कई बार बड़े शहरों में भी लड़कियों के पास विकल्प चुनने की आज़ादी नहीं होती.

सुप्रीत कौर बताती हैं, "एक बार एक क्लाइंट ने मुझे काम नहीं दिया और कहा कि वो महिला कैमरापर्सन पर भरोसा नहीं कर सकता. एक बाद दूल्हे ने दुल्हन के साथ वीडियो करने का प्रस्ताव कैंसिल कर दिया."

सुप्रीत कौर कहती हैं कि बदलाव तो हो रहा है, लेकिन हर दुल्हन अपनी शादी में मनमुताबिक काम कर पाए, ऐसा होने में लंबा वक्त लगेगा.

इमेज कॉपीरइट COOLBLUEZ

अमीषा ये भी कहती हैं कि वो ऐसा वीडियो इसलिए बना पाईं क्योंकि उनके पति को कोई समस्या नहीं हुई.

उनके पति प्रणव वर्मा कहते हैं कि उन्हें तो मालूम ही नहीं चला कब अमीषा ने ये वीडियो शूट कर लिया. प्रणव के मुताबिक उनकी पत्नी के वीडियो से दूल्हों को ये समझने में मदद मिलेगी की दुल्हन को लेकर परंपरागत सोच अब बदल रही है.

अमीषा कहती हैं, "हमने परंपरागत सोच को बदलने का काम शुरू कर दिया है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे