भारत प्रशासित कश्मीर में एक साथ कई चरमपंथी हमले

  • 14 जून 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत प्रशासित कश्मीर के कई दक्षिणी इलाकों में मंगलवार शाम एक साथ कई चरमपंथी हमले हुए हैं.

पहला हमला दक्षिणी कश्मीर के त्राल में सीआरपीएफ़ कैंप हुआ है. इस हमले में सीआरपीएफ़ के 10 जवान जख्मी हुए हैं. यह हमला एक हथगोले से हुआ है.

पुलवामा ज़िले के पतगामपुरा में भी सीआरपीएफ़ के एक कैंप पर हथगोला फेंका गया जिसमें किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं है.

स्थानीय पत्रकार माजिद जहांगीर से बात करते हुए जम्मू- कश्मीर आईजी मुनीर ख़ान ने जानकारी दी है कि सोपोर के पाज़ालपुरा में भी सेना के एक कैंप पर फ़ायरिंग की गई है. इस हमले में सेना के किसी जवान के घायल होने की ख़बर नहीं है.

कश्मीर: उरी सेक्टर में पांच संदिग्ध चरमपंथियों की मौत

बांदीपोरा: सीआरपीएफ़ कैंप पर हमला, चार चरमपंथियों की मौत

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग के अंचीडोरा में जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज मुजफ्फर अतार के आवास पर भी हमला हुआ जहां से संदिग्ध चरमपंथियों ने पुलिसकर्मियों से चार हथियार छीन लिए.

इस हमले में दो पुलिस वाले जख़्मी हुए हैं. तीन घंटे के भीतर ऐसे कई हमले हुए हैं.

दक्षिणी कश्मीर के ही पुलवामा पुलिस स्टेशन पर भी एक और हमला हुआ है. इस हमले में भी किसी के जख़्मी होने की ख़बर नहीं है.

मुनीर ख़ान ने कहा कि इन हमलों के बाद कश्मीर घाटी में ख़ास तौर से दक्षिणी कश्मीर के इलाकों में सुरक्षा अलर्ट बढ़ाया गया है.

हालांकि देर रात बाद त्राल के ही आर्मी कैंप में हैंडग्रेनेड फिर से फेंका गया, जिसमें सेना के दो जवानों के घायल होने की ख़बर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे