कश्मीर: चरमपंथी हमले में पुलिस अधिकारी समेत छह की मौत

कश्मीर इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir

भारत प्रशासित कश्मीर के अनंतनाग ज़िले में पड़ने वाले अच्छाबल इलाके में शुक्रवार को एक चरमपंथी हमला हुआ.

इस हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस के छह जवान मारे गए हैं, जिनमें एक अधिकारी भी शामिल है.

श्रीनगर से क़रीब साठ मील दूर इस इलाके में चरमपंथियों ने घात लगाकर पुलिस की गाड़ी पर हमला किया. सभी पुलिसकर्मियों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.

पुलिस चीफ़ शेषपाल वैद ने बीबीसी से बातचीत में इस घटना की पुष्टि की है.

सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में प्रदर्शनकारी की मौत

शिया-सु्न्नी मोहब्बत देखनी है तो कश्मीर आएं!

हमले में मारे गए पुलिस अधिकारी की पहचान फ़िरोज़ अहमद डार के तौर पर की गई है.

पुलिस ने अपने आधिकारिक बयान में कहा है कि चरमपंथी हमलावर मृत पुलिसकर्मियों से उनके हथियार भी लेकर भाग गए.

स्थानीय ख़बरों के मुताबिक़, अच्छाबल हमले की ज़िम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा ने ली है.

कश्मीर: उरी में पांच संदिग्ध चरमपंथियों की मौत

कश्मीर: हंदवाड़ा मुठभेड़ में दो चरमपंथियों की मौत

इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir
Image caption फ़िरोज़ अहमद डार

पिछले चौबीस घंटों में अब तक जम्मू-कश्मीर पुलिस के आठ जवान चरमपंथी हमलों में मारे जा चुके हैं.

इस दौरान शुक्रवार सुबह कुलगाम ज़िला के अरवणी इलाके में सात घंटे तक चलने वाली सुरक्षा बलों और चरमपंथियों की मुठभेड़ ख़त्म हो गई है.

इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस, मुनीर ख़ान ने बीबीसी को बताया है कि ये ऑपरेशन ख़त्म हो चुका है.

उन्होंने कहा, "घटनास्थल से मलबा हटाया जा रहा है. शवों के मिलने के बाद ही विस्तृत जानकारी दी जा सकेगी."

'कश्मीर की तरह मानवता को आज़ादी चाहिए'

'धर्म कोई भी हो, कश्मीर में बहुत भाईचारा है'

इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir

इस मुठभेड़ के बीच दो आम नागरिकों की भी प्रदर्शनों के दौरान मौत हो गई है.

फ़ायरिंग में मारे गए प्रदर्शनकारियों में 22 साल के शब्बीर अहमद और 14 साल के एहसान अहमद शामिल हैं. इनके अलावा क़रीब दर्जन भर लोग घायल भी हुए हैं.

सरकार ने शुक्रवार सुबह से ही घाटी में मोबाइल इंटरनेट पर बैन लगा दिया है.

अलगावादियों ने आम नागरिकों की मौत के ख़िलाफ़ शनिवार को कश्मीर बंद की अपील की है.

इस बीच सरकार ने शनिवार को दक्षिणी कश्मीर के सभी स्कूलों को बंद रखने के आदेश जारी किए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे