शौच करती औरतों की तस्वीरें लेने से रोका, तो पीट-पीट कर मार दिया

  • 17 जून 2017
इमेज कॉपीरइट AFP

'हिंदुस्तान टाइम्स' में छपी एक ख़बर के अनुसार खुले में शौच कर रही महिलाओं की तस्वीरें लेने से रोकने पर राजस्थान में नगरपालिका कर्मचारियों के एक दल ने एक व्यक्ति को पीट-पीट कर मार डाला.

खुले में शौच करने पर लगाम लगाने की कोशिशों के तहत राजस्थान के प्रतापगढ़ में नगरपालिका कर्मचारियों का एक दल खुले में शौच कर रही महिलाओं की तस्वीरें ले रहा था.

एक व्यक्ति जफ़र ख़ान ने इसका विरोध किया तो कर्मचारियों ने पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी.

अख़बार ने पुलिस सूत्रों के अनुसार बताया है विरोध करने पर ज़फ़र खान को नगरपालिका दल के कर्मियों ने लात-घूसों से पिटाई की.

गंभीर रूप से घायल ज़फ़र को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. घटना के बाद प्रतापगढ़ में तनाव पैदा हो गया है और पुलिस ने इलाके में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात कर दिया है.

खुले में शौच करने में झारखंड अव्वल

खुले में शौच... पूरा गांव सुनेगा कमेंट्री

इमेज कॉपीरइट AFP

1993 में बंबई बम धमाकों के मामले में अबू सलेम समेत 5 अन्य व्यक्तियों को कोर्ट ने दोषी पाया है. इस ख़बर को शनिवार को हर अख़बार ने छापा है.

इंडियन एक्सप्रेस लिखता है - मुस्तफ़ा दोसा, अबू सलेम, ताहिर मर्चेंट, फिरोज़ अब्दुल राशिद खान, करीमुल्ला खान और रियाज़ सिद्दीकी को स्पेशल कोर्ट ने दोषी पाया है.

जनसत्ता का कहना है कि इन धमाकों में 250 से अधिक लोग मारे गए थे और 700 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे.

दैनिक भास्कर लिखता है कि अबू सलेम को ना तो फांसी हो सकती है ना ही उन्हें आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई जा सकती है.

1993 मुंबई धमाका: अबू सलेम दोषी क़रार

1993 मुंबई धमाका: क्या होगा अबू सलेम का?

इमेज कॉपीरइट AFP

ब्लैक हेनव गोज़, स्विस बैंक्स टू पास इंडिया इंफो- इस हेडिंग के साथ पहले पन्ने पर काले धन पर लगाम कसने की ख़बर छापी है 'पायोनियर' ने.

अख़बार के अऩुसार स्विट्जरलैंड ने भारत और 40 अन्य देशों के साथ अपने यहां संबंधित देश के लोगों के बैंक खातों, संदिग्ध काले धन से संबंधित सूचनाओं के आदान-प्रदान की स्वचालित व्यवस्था का शुक्रवार को अनुमोदन कर दिया है.

अख़बार के अनुसार सितंबर 2019 से सरकार को भारतीयों के इस तरह लेनदेन करने से जुड़ी जानकारी सीधे-सीधे सरकार को मिलने लगेगी.

हालांकि, इसके लिए इन देशों को गोपनीयता और सूचना की सुरक्षा के कड़े नियमों का पालन करना होगा.

माना जाता है कि देश के कई लोगों ने अपनी काली कमाई स्विट्जरलैंड के बैंक खातों में छुपा रखी है और सरकार इन बैंक खातों से जुड़ी जानकारी पाने की कोशिश कर रही थी.

अब पता चलेगा स्विस बैंकों में पैसा किसका है

स्विस बैंकों में भारतीयों का धन घटा

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'इंडियन एक्सप्रेस' में छपी एक ख़बर के अऩुसार देश में राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार से नाम पर भाजपा समर्थन जुटाने के लिए अलग-अलग पार्टियों के नेताओं से मुलाकात कर रही है.

अख़बार का कहना है कि एक किसी एक पार्टी के नेता ने बीजेपी नेताओं से कहा है कि वो किसी कट्टर व्यक्ति को इस पद के लिए उम्मीदवार ना बनाएं. ख़बर में पार्टी का नाम नहीं दिया गया है.

अख़बार ने सूत्रों के हवाले से जानकारी भी दी है कि बीजेपी ने चार नामांकन पत्र भी तैयार रखे हैं लेकिन उम्मीदवार के नाम की जगह को खाली छोड़ दिया गया है.

अब तक का सबसे कांटे का राष्ट्रपति चुनाव

'राष्ट्रपति तो वही बनेगा जिसे मोदी सरकार चाहेगी'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'दैनिक जागरण' में छपी एक ख़बर के अनुसार केंद्र सरकार के राजस्व विभाग ने एक अधिसूचना जारी कर कहा है कि हर बैंक खाते को अगले छह महीने के भीतर यानी 31 दिसंबर 2017 तक आधार नंबर से जोड़ना अनिवार्य है.

अगर कोई ऐसा नहीं करता तो उसके बैंक खाते को निलंबित करने का अधिकार बैंकों को होगा.

इतना ही नहीं अब आधार कार्ड के बिना बैंक खाते नहीं खोले जा सकेंगे और 50 हज़ार से अधिक के पैसे के लेनदेन के लिए ये ज़रूरी होगा. ऐसे लेनदेन के लिए पैन नंबर पहले ही अनिवार्य बनाया जा चुका है.

आधार कार्ड पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले में क्या है

क्या ख़तरनाक है आपके लिए आधार कार्ड?

इमेज कॉपीरइट AFP

'दैनिक भास्कर' ने पहले पन्ने पर 'काम की बात' शीर्षक के नीचे लिखा है कि पेट्रोल डीज़ल के दाम तय करने के लिए डायनामिक प्राइसिंग सिस्टम देश में लागू हो गया है.

अब रोज़ सुबह 6 बजे पेट्रोल डीज़ल के दाम तय हो जाएंगे और इसके बारे में पेट्रोल पंप के सेल्स रूम के पास के डिस्प्ले पर जानकारी मुहैया कराई जाएगी.

हर दिन बदलेंगी पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें

'तो लोग अब पेट्रोल के दामों पर सट्टा खेलेंगे'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे