प्रेस रिव्यू- 'कौन जाने कब्र में पहली रात हमारे साथ क्या होगा'

फ़िरोज़ अहमद डार इमेज कॉपीरइट Majid Jahangir

'इंडियन एक्सप्रेस' ने भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर में चरमपंथियों के हमले में मारे गए पुलिस अधिकारी फिरोज़ अहमद डार की वायरल हो रही एक पुरानी फ़ेसबुक पोस्ट पर ख़बर छापी है.

साल 2013 में फेसबुक पर उन्होंने लिखा है, "कौन जानता है कि कब्र में जाने के बाद पहली रात हमारे साथ क्या होगा."

कश्मीर: चरमपंथी हमले में पुलिस अधिकारी समेत छह की मौत

सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में प्रदर्शनकारी की मौत

अख़बार के अनुसार इस पोस्ट में उन्होंने लिखा था, "वहां आप अकेले होंगे, अंधेरा होगा और आप किसी से मदद नहीं मांग सकेंगे... आप पछताएंगे कि आपने अल्लाह के आदेश का पालन क्यों नहीं किया... आप अपने कर्मों के साथ वहां कब्र में होंगे, अकेले...."

उन्होंने लिखा था कि अल्लाह हमें कब्र में मिलने वाली सज़ा से बचाए.

भारत प्रशासित कश्मीर के अनंतनाग ज़िले के अच्छाबल में शुक्रवार हुए चरमपंथी हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस के छह जवानों की मौत हो गई थी. मारे जाने वालों में फ़िरोज़ अहमद डार भी थे.

इमेज कॉपीरइट Facebook

तक्षशिला में कैसे कपड़े पहनते थे छात्र?

इमेज कॉपीरइट AFP

'हिंदुस्तान टाइम्स' में छपी एक ख़बर के अनुसार उत्तराखंड सरकार दीक्षांत समारोह में छात्रों के पहनने वाले कन्वेंशन रोब यानी लबादे को बदलने के लिए प्राचीन हिंदू किताबों का अध्ययन कर रही है.

अख़बार के अनुसार प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने कहा है कि इसके लिए सरकार जानकारों की मदद ले रही है जो जानने की कोशिश कर रहे हैं कि प्राचीन भारत में ख़ासकर ईसा पूर्व तक्षशिला में छात्र दीक्षांत समारोह में किस तरह के कपड़े पहनते थे.

कई लोग मानते हैं कि भारत में छात्रों का काला लबादा पहनाना जो ब्रितानी साम्राज्य की देन है, उसे बदला जाना चाहिए.

अख़बार के अनुसार इस पर बीते कुछ समय से चर्चा तो चल रही थी लेकिन बीजेपी सरकार के सत्ता में आने के बाद यह मुद्दा बड़ा बन गया है.

उत्तराखंड की सड़कों पर उतरीं महिला 'चीता'

मध्य प्रदेश में भी चलेगा 'रोमियो के ख़िलाफ़ अभियान'

उत्तराखंड में किसान की आत्महत्या

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में कर्ज़ के बोझ तले दबे सुरेंद्र सिंह नाम के एक किसान ने आत्महत्या कर ली है.

अख़बार 'जनसत्ता' ने इसे पहले पन्ने पर छापा है. अख़बार लिखता है कि सुरेंद्र की खुदकुशी से गुस्साए गांववालों ने ज़िले की बेरीनाग तहसील में प्रदर्शन किया. कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी इसके विरोध में प्रदर्शन किया.

अख़बार कहता है कि प्रदेश के इतिहास में यह पहली बार है जब कर्ज़ में डूबे किसी किसान ने आत्महत्या की है.

राज्य सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं और कहा है.

जय जवान, जय बयान और खुशहाल किसान

'सड़क पर नहीं आया तो किसान की कौन सुनेगा'

एयर इंडिया के कर्मचारियों के सुझाव

'डेली पायोनियर' में छपी एक ख़बर के अनुसार एयर इंडिया के विनिवेश की ज़ोर पकड़ती कवायद के बीच कंपनी के कर्मचारी तमाम सुझावों के साथ आगे आए हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA

कुछ कर्मचारियों ने सीधे एयर इंडिया के चेयरमैन अश्विनी लोहानी को पत्र लिखा है. कर्मचारियों ने व्यक्तिगत स्तर पर अपने वेतन-भत्ते और अन्य वित्तीय लाभ नहीं लेने का प्रस्ताव दिया है.

अख़बार का कहना है कि विनिवेश को लेकर कैबिनेट नोट तैयार हो गया है और सरकार जल्द ही 64 साल पुरानी एयर इंडिया कंपनी के निजीकरण का फैसला ले सकती है.

'एयर इंडिया से आते-जाते थे नेहरू के प्रेम पत्र'

गायकवाड़ फिर उड़ सकेंगे, एयर इंडिया ने हटाया बैन

'दैनिक जागरण' में छपी एक ख़बर के अनुसार हैदराबाद से दिल्ली आनेवाली इंडिगो की एक फ्लाइट में एक व्यक्ति महिला के सामने कथित तौर पर अश्लील हरकत करने लगे.

इसके बाद उस व्यक्ति को दिल्ली एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया.

अख़बार के अनुसार अकेले सफर कर रही महिला की बगल वाली सीट पर बैठै रमेश चंद की महिला ने एयरलाइंस के सुरक्षाकर्मियों को शिकायत की थी.

इसके बाद रमेश को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)