'पाक की जीत पर जश्न' में राजद्रोह का केस हटा

आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफ़ी में भारत पर पाकिस्तान की जीत को लेकर मध्य प्रदेश के एक गांव में कथित रूप से जश्न मनाने के मामले में दर्ज हुए राजद्रोह के केस को वापस ले लिया गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भोपाल के स्थानीय पत्रकार शुरैह नियाज़ी से इस मामले के जांच अधिकारी आरके यादव ने कहा कि अब मोहद गांव के 15 युवकों पर 124 ए के तहत दर्ज हुआ केस 153 ए में तब्दील कर दिया गया है. 153 ए एक के तहत सांप्रदायिक सद्भावना बिगाड़ने का मामला दर्ज होता है.

हालांकि इन युवकों के परिवार वालों ने दावा किया है कि उनके बच्चों ने किसी भी तरह से देश के ख़िलाफ कोई कृत्य नहीं किया है.

'हमें नहीं पता किसने फोड़े पाकिस्तान के समर्थन में पटाखे'

पाकिस्तान की जीत का जश्न, देशद्रोह का मुक़दमा

मध्य प्रदेश के बुरहानपुर ज़िले के मोहद गांव के 15 मुसलमान युवकों पर आरोप है कि उन्होंने पाकिस्तान की जीत के बाद भारत के ख़िलाफ नारेबाज़ी की और पटाखे फोड़े.

पहले इन लड़कों पर राजद्रोह का मामला लगाया गया था जिसके बाद इन्हें मंगलवार को कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया गया.

राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार हुए इतबार तड़वी के पिता गुलज़ार तड़वी ने बताया, "ये वक़्त नमाज़ और रोज़े का है. हम लोगों को तो पता ही नहीं कि ऐसा कुछ हुआ है. किसने पटाखे फोड़े, हमें ख़ुद नहीं मालूम. यह सब तो हमें बनाया हुआ लगता है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे