उत्तरप्रदेशः 3 की पीटकर, 2 की जलाकर हत्या

इमेज कॉपीरइट Twitter/Raebareli Police
Image caption रायबरेली के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह के मुताबिक पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में पांच लोगों की हत्या की वारदात ने एक बार फिर प्रदेश में क़ानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं.

रायबरेली के ऊंचाहार थानाक्षेत्र के इटौरा गांव में मंगलवार शाम पांच लोगों की हत्या कर दी गई.

रायबरेली के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने बीबीसी को बताया, "पुलिस को दो शव जली हुई कार में मिले जबकि तीन शव बाहर थे."

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, "पोस्टमार्टम रिपोर्ट में तीन मृतकों को पीटे जाने की बात सामने आई है."

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक गांव की ग्राम प्रधानी को लेकर दोनों पक्षों में विवाद था.

'योगी धर्माचार्य, उनका पुतला फूंकना अधार्मिक'

बीजेपी नेताओं के खाल खींचने जैसे बयानों से चिढ़े पुलिसवाले

पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह के मुताबिक मृतकों में से एक रोहित शुक्ल गांव में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रहे थे.

पुलिस का कहना है कि हत्या की वजह राजनीतिक रंजिश भी हो सकती है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ठीक ऐसे दिन हुआ हत्याकांड जब...

इस हत्याकांड में पुलिस ने इटौरा की ग्राम प्रधान रामश्री के तीन बेटों समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस का कहना है कि हत्याकांड में अभी और गिरफ़्तारियां भी की जा सकती हैं.

गांव में तनाव के मद्देनज़र बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किए गए हैं.

ये हत्याकांड उस समय हुआ जब लखनऊ में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने सौ दिनों के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड पेश कर रहे थे.

सत्ता संभालते वक़्त योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में क़ानून व्यवस्था सुधारने और अपराधों की रोकथाम करने का वादा किया था.

प्रदेश में अपराध के आंकड़ों के मुताबिक योगी के शासनकाल में हत्या, बलात्कार और लूट के मामलों में बढ़ौत्तरी हुई है जिससे प्रदेश की क़ानून व्यवस्था सवालों के घेरे में है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)