फ़ौज पर विवादित बयान के बाद आज़म ख़ान ने क्या कहा?

आज़म खान इमेज कॉपीरइट Getty Images

समाजवादी पार्टी की वरिष्ठ नेता एक बार फिर से विवाद में आ गए हैं. आज़म ख़ान का एक वीडियो टीवी चैनलों पर चल रहा है जिसमें वह कहते दिख रहे हैं महिला दहशतगर्दों को सेना के जिस अंग से शिकायत थी उसे काटकर ले गईं.

इस वीडियो में आज़म ख़ान कहते दिख रहे हैं, ''उन्हें न हाथ से शिकायत थी, न पैर से शिकायत थी जिस अंग से शिकायत थी उस अंग को काटा. महिला दहशतगर्द फ़ौज के प्राइवेट पार्ट काटकर ले गईं. उन्हें जिस्म के जिस हिस्से से शिकायत थी उसे काटकर ले गईं. इससे पूरे हिन्दुस्तान को शर्मिंदा महसूस करना चाहिए.''

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक आज़म ख़ान ने मंगलवार को यह बात रामपुर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करत हुए कही थी.

लाख दूध पिला लीजिए सांप डसेगा ही: आज़म ख़ान

ताजमहल गिराने के हिमायती आजम खान

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उनके इस बयान को लेकर सवाल पूछे गए तो आज़म ख़ान ने कहा कि बयान को ग़लत तरीक़े से पेश किया जा रहा है. उन्होंने कहा कहा कि मीडिया में जो ख़बरें चल रही थीं उसी आधार पर उन्होंने कहा है.

एक टीवी चैनल से बात करते हुए आज़म ख़ान ने कहा, ''मैंने कोई ग़लत काम नहीं किया है. हम इस देश में दाढ़ी नहीं रख सकते, बुर्का नहीं पहन सकते, खाना नहीं खा सकते. देश में बैलेट का राज नहीं बुलेट का राज चल रहा है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा, ''हम फ़ासिस्ट ताक़तों के लिए आइटम गर्ल हैं. मुझे गाली देने से ही बीजेपी की राजनीति चलती है. मुझ जैसे कमज़ोर आदमी को गाली देकर क्या मिलेगा? जब जवानों के सिर काटे गए तो देश के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ की मां के पैरों पर झुक रहे थे. मैं हिन्दुस्तान का सबसे अच्छा इंसान हूं. मैं फक़ीर आदमी हूं और एक छोटे से घर में रहता हूं.''

आज़म ख़ान के इस बयान पर बीजेपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. बीजेपी ने आज़म ख़ान को समाजवादी पार्टी से निकालने की मांग की है. पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर आर्मी की आलोचना करना फैशन बन गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे