जब मोदी हिंसा की निंदा कर रहे थे तभी झारखंड का अलीमुद्दीन मारा गया

झारखंड इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को गाय बचाने के नाम पर हो रही हत्या की कड़ी निंदा करते हुए इसे स्वीकार नहीं करने की बात की थी.

जब पीएम इस मामले पर बोल रहे थे तब उस वक्त के आसपास झारखंड में एक मुस्लिम युवक की हत्या भीड़ ने कर दी.

ये वाकया रांची से सटे रामगढ़ का है, जहां मांस ले जा रहे अलीमुद्दीन नामक एक युवक को भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी.

ग़ुस्साए लोगों ने उनकी गाड़ी में आग भी लगा दी. इस घटना के बाद इलाक़े में तनाव है और पुलिस के आला अधिकारी वहां कैंप कर रहे हैं.

एक चश्मदीद ने बताया कि भीड़ में शामिल लोग हल्ला कर रहे थे कि उनकी कार में गाय का मांस है. इसके बाद वहां लोगों की संख्या बढ़ती चली गई.

गोभक्ति के नाम पर हत्या स्वीकार्य नहीं: मोदी

पड़ताल: गौसेवा करते मोदी और पहलू ख़ान के हमलावर

झारखंड: मरी गाय पर बवाल, उस्मान का घर फूंका

झारखंड: बच्चा चोरी की अफ़वाह में 6 लोगों की पीट-पीटकर हत्या

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

सबने उनकी गाड़ी को घेर लिया और नीचे उतारकर मारने लगे. इस दौरान कुछ लोगों ने पेट्रोल छिड़क कर उनकी गाड़ी में आग लगा दी.

इसकी सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने अलीमुद्दीन को भीड़ से बचाया, लेकिन कुछ ही घंटे बाद रांची के एक अस्पताल में उनकी मौत हो गई.

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

झारखंड राज्य पुलिस प्रवक्ता और आइजी (आपरेशंस) आरके मलिक ने बीबीसी को बताया कि मृत अलीमुद्दीन अंसारी रामगढ़ जिले के गिद्दी थाना क्षेत्र के रहने वाले थे. उनके ख़िलाफ़ आपराधिक मामले चले थे.

हत्या के पीछे साजिश

मलिक के मुताबिक, 'वह एक बच्चे के अपहरण और हत्या के मामले में पहले जेल भी जा चुके थे. वह इन दिनों मांस का व्यवसाय कर रहे थे. उन्होंने दावा किया कि उनकी हत्या रंगदारी को लेकर की गई है और पूर्व नियोजित है.'

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

आर के मलिक ने बीबीसी से कहा, ''मांस का व्यवसाय करने के कारण कुछ लोग उनसे रंगदारी के तौर पर पैसे वसूलते थे. शायद इसे लेकर हुए विवाद के बाद अपराधियों ने अलीमुद्दीन की हत्या की साजिश रची.''

उन्होंने कहा, ''आज दोपहर वह जैसे ही अपने घर से निकले लोगों ने उनका पीछा किया. बाज़ार में कुछ लोग पहले से मौजूद थे. वहां गाय का मांस ले जाने की अफ़वाह फैला दी. फिर इसका फ़ायदा उठाकर उन्हें मार डाला. इस मामले मे पुलिस एफ़आइआर दर्ज करने जा रही है.''

एक दिन पहले भी हिंसा

आरके मलिक ने कहा, ''इसकी जांच की जाएगी. मांस के सैंपल एफएसएल लैब में जांच के लिए भेजे जाएंगे. इसके बाद ही यह बता पाना संभव होगा कि मांस किस जानवर का था.''

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

इस बीच रांची पहुंचे राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने भीड़ द्वारा मारे जा रहे लोगों की हत्या की निंदा की. उन्होंने कहा कि लोग डर के माहौल मे जी रहे हैं और कहीं आना-जाना टाल रहे हैं. यह गोधरा कांड के बाद पैदा हुई स्थितियों जैसी हालत है.

महज एक दिन पहले ही गिरिडीह ज़िले में मरी गाय को लेकर हुई हिंसा में भीड़ ने एक मुस्लिम बुज़ुर्ग को मारने के बाद घर में आग लगा दी थी. बुरी तरह से जख़्मी बुज़ुर्ग अब भी हॉस्पिटल में भर्ती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे