प्रेस रिव्यू: चीन ने कहा, 1962 का सबक याद रखे भारत

इमेज कॉपीरइट AFP

'हिंदुस्तान टाइम्स' में छपी एक ख़बर के अनुसार चीन ने भारत को चेतावनी दी है कि भारतीय सेना को इतिहास से मिले सबक यानी 1962 की लड़ाई में मिली हार से सीख लेनी चाहिए.

अख़बार के अनुसार चीन ने कहा है कि भारत सिक्किम सेक्टर के डोंगलोंग क्षेत्र से अपने सैनिकों को वापस बुलाए. सीमा विवाद सुलझाने की दिशा में बातचीत के लिए चीन से इसे ज़रूरी शर्त बताया है.

चीन का कहना है कि उसके सैनिक वो जिस इलाके में सड़क निर्माण का काम कर रहे हैं वो उनकी जगह है ना कि भूटान की.

चीन ने कहा, भूटान के इशारे पर भारत ने डाला अड़ंगा

सिक्किम में भारत-चीन की सेना आमने-सामने!

'दैनिक भास्कर' में छपी एक ख़बर के अनुसार मद्रास हाईकोर्ट ने एक अहम फैसला देते हुए कहा है कि एक महिला रोज़ाना बिना पैसा लिए घर की देखभाल करती है. उसे होममेकर और बिना आय वाली कहना ग़लत है.

अख़बार के अनुसार कोर्ट का कहना है कि महिला अपने परिवार की वित्त मंत्री और चार्टर्ड अकाउंटेंट भी होती है.

मामला 2009 का है जब पुडुचेरी की रहने वाली मालती जानवरों का चारा लाने खेत में गई थीं और बिजली के तार से झटका लगने के कारण उनकी मौत हो गई.

उनके पति ने पुडुचेरी बिजली बोर्ड पर लापरवाही का आरोप लगाया और कोर्ट में गुहार लगाई. 2013 में बिजली बोर्ड को निचली अदालत ने 4 लाख रुपये मुआवज़े को तौर पर देने का आदेश दिया लेकिन बोर्ड ने उसके ख़िलाफ़ हाईकोर्ट में अपील की थी.

महिला अधिकारी ने कहा, आँसुओं को कमज़ोरी मत समझना

168 साल पहले जिसने महिलाओं को पहनाई स्कर्ट!

लगभग सभी अख़बारों ने देश के भीतर गोकशी या गाय ले जाने के शक़ भीड़ के पीट-पीट कर किसी को मार देने के मामलों पर प्रधानमंत्री मोदी ने के बयान को पहले पन्ने पर छापा है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
जुनैद की हत्या और खंडावली गांव की ईद

'इंडियन एक्सप्रेस' ने में छपी इस ख़बर के ठीक नीचे 16 साल के युवक के पिता जुनैद जलालुद्दीन ख़ान का बयान छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि पीएम ने बोल तो दिया लेकिन इन हत्याओं को रोकेगा कौन.

अख़बार के अनुसार जलालुद्दीन का कहना है, "मैं चाहता हूं कि वो इस बात को दिल से कहें, हर शहर में कहें, हर राज्य में कहें और हर अधिकारी से कहें. अगर वो चाहें तो वो ये हत्याएं रोक सकते हैं."

दिल्ली से बल्लभगढ़ लौट रहे जुनैद को भीड़ ने ट्रेन में पीट-पीट कर मार दिया था. इसी ख़बर के साथ छपी है रांची के रामगढ़ में हुई अलीमुद्दीन की हत्या की ख़बर.

दिल्ली से बल्लभगढ़ की यात्रा, मगर मैं जुनैद नहीं...

जुनैद हत्याकांड में सीएम ने की मुआवज़े की घोषणा

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अख़बार में छपी एक अन्य ख़बर के अनुसार किंगफिशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या की कोई इच्छा नहीं थी कि वो आईडीबीआई को दी गई व्यक्तिगत गांरटी को मानें.

सीबीआई के कोर्ट में जो सप्लिमेंटरी चार्जशीट दायर की है उसके अनुसार ये बैंक से लिए गए कर्ज को चुकाने से पहले की बात है.

बीते सप्ताह फाइल की गई इस चार्जशीट में सीबीआई ने माल्या का एक ईमेल पेश किया जो उन्होंने जनवरी 6, 2012 को यूनाईटेड स्पिरिट्स लिमिटेड के आला अधिकारी पी ए मुरली को लिखा था.

अख़बार के अनुसार मेल में उन्होंने लिखा था, "मुझे आईडीबीआई के मेल मिल रहे हैं कि किंगफिशर एयरलाइन्स के अकाउंट को कर्ज़ में फंसा या नॉन परफॉर्मिंग एसेट घोषित किया जाएगा. वो अचानक ही कुछ कर सकते हैं. कल ही आप मेरे अकाउंट से 10 करोड़ रुपये निकाल कर यूनाईटेड स्पिरिट्स लिमिटेड के अकाउंट में डाल लें."

मुझे किसी ने चोर-चोर नहीं कहा: माल्या

'विजय माल्या मिडिल क्लास के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं'

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption मध्यप्रदेश में बीते दिनों किसानों के हिंसक प्रदर्शन किए थे. ये किसान कर्ज़माफी और उचित समर्थन मूल्य की मांग कर रहे थे.

'जनसत्ता' में छपी एक ख़बर के अनुसार बीते 24 घंटों में प्रदेश में पांच किसानों ने आत्महत्या कर ली है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिला सिहोर में दो किसानों ने आत्महत्या की है जबकि मंदसौर, मुरैना और होशंगाबाद में एक-एक किसान ने ख़ुदकुशी कर ली है.

मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के किसान क्यों हैं नाराज़

'महाराष्ट्र में बीजेपी यमराज, मध्य प्रदेश में जनरल डायर'

इमेज कॉपीरइट MOHD RAGHIB
Image caption नजीब की मां फ़ातिमा नफ़ीस

'दैनिक जागरण' में छपी एक ख़बर के अनुसार सीबीआई का कहना है कि जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद के बारे में सूचना देने वाले को 10 लाख रुपए का ईनाम दिया जाएगा.

मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस ने भी नजीब के बारे में की सूचना देने वाले पर 10 लाख रुपए का ईनाम घोषित किया है.

अक्टूबर 2016 को नजीब अहमद और कुछ छात्रों के बीच विवाद हुआ था जिसके बाद से वो लापता हैं.

क्या हुआ था जेएनयू में उस रात!

'बच्चा वापस दे दो, मैं वापस चली जाऊंगी'

जेएनयू छात्र, नजीब की मां हिरासत से छूटे

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे